शिवपुरी पर शनि का साया: आधा प्रशासन हॉम क्वॉरेटेन, कोरोना के साथ खतरनाक हो गया स्वास्थ्य विभाग - Shivpuri News

शिवपुरी। कोरोना की चाल में शिवपुरी जिला फस गया हैं ऐसा लगता हैं कि जिले पर शनि का साया हैं। जिले के बडे अधिकारी हॉम क्वारेंटेंन हो गए है। वर्तमान समय में स्वास्थय विभाग की समाज को अबसे अधिक आवश्यकता हैं उस पर लगातार गंभीर आरोप लग रहे हैं, कल हुई वृद्धा की मौत पर आरोप लगे की दम तोडने के बाद वृद्धा को आईसीयू में ले जा गया और डॉक्टरो ने फिर सॉरी बोल दिया। 

जैसा कि विदित हैं कि कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह और उनका परिवार कोरोना के संक्रमण में फसकर पॉजीटिव हो गए और पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल भी कोरोना पॉजीटिव हो गए और हॉम क्वॉरेटेंन हो गए। इसके अतिरिक्त कोलारस एसडीओपी अमरनाथ वर्मा,कोलारस टीआई संजय मिश्रा,बदरवास थाना प्रभारी उमेश उपाध्याय,शिवपुरी एसडीओपी सुश्री नरवरिया भी कोरोना के संक्रमण की चपेट में आ चुके है। 

इसके अतिरिक्त कोलारस एसडीएम श्री नाडिया और डिप्टी कलेक्टर मनोज गरवाल भी कोरोना की चपेट में हैंं,प्रशासन के माईक टू अर्थात एडीएम बलोदिया साहब कोरोना से तो बचे थे लेकिन कार दुर्घटना में घायल होकर अस्पताल में भर्ती हैं। इसके आलावा भी कई कर्मचारी अधिकारी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ कर इससे जंग लड रहे है। 

वही जिले में भी कोरोना के संक्रमण की रफ्तार कम होने का नाम नही ले रही है। लगातार मरीजो की संख्या बड रही हैं इस कारण जिले में मौतो का ग्राफ भी बड रहा हैं। पिछले 36 घंटे में 5 मौते हो चुकी हैं। 

बीते रोज सांई बाबा मंदिर के पास निवासरत हुई कोरोना पॉजीटिव महिला के मौत पर स्वास्थय विभाग पर गंभीर आरोप लग रहे है। मृतक सावित्री शर्मा उम्र 72 वर्ष 8 सिंतबर को जिला आईशोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया था,सावित्री शर्मा के परिवार में 3 लोग और भी पॉजीटिव थे उन्है भी आईशोलशन वार्ड में भर्ती कराया गया था। 

परिजनो ने कोविड 19 यूनिट पर गंभीर आरोप लगाए थे कि पिछले 3 दिन से उनका स्वास्थय खराब चल रहा था आक्सीजन लगातार गिर रही थी। आईशोलेशन वार्ड में साथ में भर्ती नातिन डॉक्टरो से ईलाज की गुहार लगाती लेकिन कोई सुनवाई नही हो रही थी। बीते रोज जब उनकी सांसे उखड चुकी थी तो डॉक्टरो ने उन्है आईसीयू में भर्ती कर दिया और 10 मीनिट बाद सॉरी बोल दिया। खतरनाक कोरोना के साथ स्वास्थय विभाग ने भी समाज के लिए खतरनाक सा लगने वाला काम कर दिया। 

कोरोना काल में अब समाज को स्वास्थय सुविधाओ की सबसे अधिक आवश्यकता हैं लेकिन अस्पताल से प्रतिदिन लापरवाही की खबरे आ रही हैं अगर ऐसा ही चलता रहा तो कैसे कोरोना से जंग जीतेगा यह शहर यह सवाल एक बडा और जबाब के लिए खडा है।