भाजपा में तो फिट हो गए पूर्व विधायक राठखेड़ा पर भाजपाइयों में फिट नहीं / SHIVPURI NEWS

शिवपुरी। इन दिनों पोहरी और करैरा विधानसभा में उपचुनाव होना है। दोनों ही सीटों पर भाजपा की और से कांग्रेस छोडकर भाजपा में आयतित हुए पूर्व विधायकों का टिकिट फायनल माना जा रहा है। जिसे लेकर दोनों ही पूर्व विधायकों ने अपने अपने क्षेत्र में तैयारियां प्रारंभ कर दी है।

परंतु आज के हालातों को देखें तो दोनों ही पूर्व विधायकोे के लिए अपनी ही पार्टी में कांटे विछे हुए है। दोनों ही विधायक भले ही आर एस एस के कार्यालयों में पहुंचकर अपने आप को पूर्णत: भाजपाई मान बैठे है। परंतु भाजपाई इन आयतित विधायकों को भाजपाई मानने को तैयार नहीं है। अभी हाल ही में शिवपुरी की विधायक और कैबीनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया शिवपुरी आई थी। इनके कार्यक्रम में शामिल होने राज्यमंत्री सुरेश राठखेडा भी शामिल हुए। परंतु इस कार्यक्रम में इन्हें मंत्री राजे ने कोई खास तब्बजों नहीं दी।

भाजपा जिलाध्यक्ष सहित राज्यमंत्री बाहर इंतजार करते रहे और यशोधरा राजे अंदर बैठक लेती रही। इतना ही नहीं पोहरी विधानसभा में होने बाले उपचुनाव को लेकर भाजपा ने अपने सभी कार्यकताओं को जमींनी स्तर तक उतरने का आदेश तो दे दिया। परंतु धरातल पर हालात अलग ही देखने को मिल रहे थे। पोहरी के पूर्व विधायक सुरेश राठखेडा राज्यमंत्री हैं और कॉलेज का निरिक्षण उनकी ही विधानसभा में हो रहा था प्रोटोकोल के हिसाब से अधिकारियो के साथ उनकी भी बैठक होनी थी,लेकिन ऐसा नही हुआ मंत्री एक आम कार्यकर्ता की तरह बैठे रहे।

कुल मिलाकर सीधी सी बात हैं कि कांग्रेस से किनारा करके आए विधायको ने भले ही उपरी स्तर पर एक सौदे के कारण भाजपा में चले गए हैं। पार्टी के बडे नेता उनकी सुन भी रहे होगें लेकिन आम कार्यकर्ता तो भाजपा की मूल ताकत है वह उसे नही अपना रहा हैं। अगर ऐसा ही रहा तो कैसे चुनाव में कांग्रेस से पटक पाऐगी भाजपा।