सहरिया क्रांति ने घेरा कोलारस थाना, मजिस्ट्रेट की गाडी को रोका, महिलाओं को निर्वस्त्र करने का था आरोप / KOLARAS NEWS

कोलारस। कोलारस में आज सहरीया क्रांति का जमकर हंगामा देखने को मिला। कल की घटना से नाराज सहरिया क्रांति के लोगों ने कोलारस थाने का घेराव कर दिया। इस दौरान वहां से गुजर रहे मजिस्ट्रेट की गाड़ी को भी सहरिया क्रांति के सदस्यों ने वहां से गुजरने नहीं दिया।  

सनवारा ग्राम पंचायत में कल एक घटना घटित हुई जिसमें गांव के दवंगों ने मिलकर आदिवासी बस्ती को गांव से खदेड दिया। उनके घर उजाड़ दिए। आरोप है कि उनके यहां महिलाओं के कपडे फाड़े। इस मामले में पुलिस ने आरोपीयों के खिलाफ मामला दर्ज कर घायलों को उपचार के लिए जिला चिक्तिसलय में भर्ती कराया गया।

इस मामले में सहरिया क्रांति का आरोप है कि आरोपीयों ने इस गांव से पूरे आदिवासियों को बेदखल कर वहां से भगा दिया था। आरोप है कि यहां महिलाओें को निवस्त्र कर उनके साथ अभ्रदता की है। इतना ही नहीं आरोपीयों ने पूरी बस्ती के लोगों की टपरिया उजाड़ दी। वर्तन फैंक दिए।

जिस पर से पुलिस ने इस मामले में महज मारपीट की धाराओं में मामला दर्ज कर मामले से पल्ला झाल लिया था। इसी बात से नाराज आदिवासीयों ने हंगामा किया। इस हंगामे के बाद एसडीएम,फोरेस्ट के एसडीओं सहित पूरा प्रशासनिक अमला वहां पहुंचा और आदिवासीयों के साथ गांव में पुलिस वल तैनात कर उन्हें न्याय दिलाने का बादा किया। तब कही जाकर यह मामला शांत हुआ।

यह था मामला
कोलारस के ग्राम सनवारा के पास स्थित मोरई में वन विभाग की जमीन पर अतिक्रमण कर टपरे बना रहे आदिवासियों पर एक दर्जन से अधिक यादव,गुर्जर व आदिवासी समुदाय के लोगों ने हमला कर दिया। घटना में आधा दर्जन लोगो को चोटे आई हैं। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल भर्ती कराया गया हैं।

ग्राम सनवारा से बैढारी मार्ग पर मोरई में हजारों बीघा वनभूमि का जंगल हैं, इस पर दबंग काबिज होना चाहते हैं। साथ ही वहां के आदिवासी भी जंगल का काटने का काम कर जमीन पर कब्जा कर रहे है। इसी को लेकर आज दोपहर दबंगों ने आदिवासियों की लात, घूसों व लाठियों से जमकर मारपीट कर वहां से खदेड दिया।