भोपाल कैबिनेट में शिवपुरी को मिली 1100 करोड रूपए योजना की सौगात: 9 लाख आबादी को मिलेगा पेयजल - SHIVPURI NEWS

शिवपुरी।
मप्र की राजधानी भोपाल की आज की हुई कैबिनेट मीटिंग में शिवपुरी जिले के लिए 1100 करोड रूपए की योजना पर मुहर लगी है। इस भारी भरकम बजट वाली मडीखेडा बांध समूह योजना को आज स्वीकृति मिल गई हैं। इस योजना में शिवपुरी जिले पांचो विधानसभा के 842 गांवो के घरो में नलो से पानी पहुचेंगा।

जानकारी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में मंगलवार को हुए मंत्री परिषद की बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा मध्यप्रदेश जल निगम के माध्यम से क्रियान्वित समूह जल प्रदाय योजना को स्वीकृति दी गई है।

इन योजनाओं में शिवपुरी जिले के 1096.96 करोड़ रुपए की लागत के मड़ीखेड़ा जल प्रदाय योजना को भी स्वीकृति दी गई हैं। कोलारस विधायक वीरेंद्र रघुवंशी ने अपनी विधानसभा के कोलारस व बदरवास तहसील के गांवों में पीने का पानी पहुंचाने के लिए समूह पेयजल योजना बनवाई हैं।

जिससे कोलारस सहित करैरा-नरवर,पोहरी, पिछोर और शिवपुरी विधानसभा के सैकड़ों गांव के लोगों को भी पीने का पानी मिलेगा। कुछ दिन पूर्व कोलारस विधायक रघुवंशी ने तीन-चार दिनों से भोपाल रुककर जल निगम से समूह पेयजल योजना को फाइनल प्रस्ताव तैयार कराया,ताकि कैबिनेट से जल्द मंजूरी मिले और आगे की कार्रवाई शुरू हो सके। 

कोलारस विधायक वीरेन्द्र रघुवंशी ने बताया कि विधानसभा के गांवों में पीने के पानी की गंभीर समस्या रहती थी। जल निगम द्वारा सर्वे कराया था सर्वे धीमा चलने पर 30 मई 2020 को मुख्यमंत्री को पत्र लिखा और सर्वे में तेजी आ गई। आज प्रस्ताव कैबिनेट में पहुंच गया ओर उसे कैबिनेट ने मंजूदी भी दे दी हैं।

कोलारस के साथ करैरा,नरवर,पोहरी,शिवपुरी और पिछोर गांवों में मड़ीखेड़ा बांध से पानी मिल सकेगा। कैबिनेट में मंजूरी मिलने के बाद फायनल डीपीआर और टेंडर प्रक्रिया की कार्यवाही भी अब शुरू होगी। 

मड़ीखेड़ा बांध से साल 2020 की स्थिति में 1 लाख 85 हजार 945 घर शामिल किए हैं और 8 लाख 83 हजार 227 की आबादी हैं । पेयजल योजना साल 2053 को ध्यान में रखकर बनाई है जिससे 2 लाख 89 हजार 474 घरों में 13.55 लाख की आबादी को पानी मिलेगा।

बांध से 20 घंटे में पहले साल 70.66 एमएलडी पानी और 2023 में 74.08 एमएलडी पानी मिलना हैं। दस साल बाद 85.55 एमएलडी,20 साल बाद 97.01 एमएलडी और 2053 में 108.41 एमएलडी पानी मिलना तय हैं। बताया जा रहा हैं कि इस योजना से कोलारस विधानसभा के 359 गांव,शिवपुरी विधानसभा के 222 गांव,पोहरी और करैरा के 22 गांव और पिछोर विधानसभा के 50 गांव शामिल किए हैं।