पिछोर कॉलेज में कोरोना के चलते 1 अक्टूबर से लगेंगी ऑनलाइन क्लासेस - PICHHORE NEWS

पिछोर।
कोरोना संक्रमण के चलते अब कॉलेज के विद्यार्थी ऑनलाइन पढ़ाई करेंगे। 1 अक्टूबर से 30 नवंबर तक ऑनलाइन क्लासेस लगाई जाएंगी। स्नातक और स्नातकोत्तर के विद्यार्थियों के लिए दूरदर्शन व आकाशवाणी पर प्रतिदिन 3 घंटे तक प्रसारण होगा। स्नातक और स्नातकोत्तर के लिए व्याख्यान होंगे। प्रदेश भर में बीए, बीकॉम और बीएससी तथा एमकॉम, एमए और एमएससी का एक ही सिलेबस है, इसलिए कॉमन लेक्चर भी जारी किए जाएंगे।

वर्तमान में बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण अधिकांश काम ऑनलाइन हो रहे हैं। पिछोर महाविद्यालय के प्राचार्य डा. केशव सिंह जाटव एवं प्रभारी डा.अंजू सिहारे ने बताया कि उच्च शिक्षा विभाग द्वारा आज आयोजित की गई आनलाईन व्ही.सी. में प्राप्त निर्देशों के अनुसार दिनांक 01 अक्टूबर 2020 से स्नातक एवं स्नातकोत्तर कक्षाओं का आनलाईन प्रसारण प्रारंभ किया जाना है।

प्रवेश लेने वाले नये विद्यार्थियों को भीे अब ऑनलाइन पढ़ाने की तैयारी है। इस संदर्भ में सभी महाविद्यालय ने अपना टाईम टेबिल अग्रणी महाविद्यालय को प्रेशित कर दिया है। सभी विषयों के प्राध्यापक, सहायक प्राध्यापक द्वारा वाट्सएप पर विद्यार्थियों के गु्रप बनाये जायेंगे जिन पर अध्यापन कार्य होगा। बी.ए. प्रथम वर्ष में आधार पाठ्यक्रम से संबंधित कक्षायें भी संचालित की जायेगी।

ये भी होगा: ऑडियो में लेक्चर वेबसाइट पर रहेंगे उपलब्ध छात्रों तक पढ़ाई की सामग्री पहुंचाने के लिए ऑडियो लेक्चर कालेज की उच्च शिक्षा विभाग की वेबसाइट एवं महाविद्यालय के गूगल क्लासरूम पर अपलोड किए जाएगें हैं। कोरोना संक्रमण के चलते कॉलेजों में नया शिक्षा सत्र 3 माह देरी शुरू हो रहा है। पढ़ाई के लिए एक अक्टूबर से ऑनलाइन कक्षाएं लगेंगी।

कालेज ने स्टडी मटेरियल सोशल मीडिया से लेकर दूरदर्शन के माध्यम से विद्यार्थी तक पहुंचाने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके अतिरिक्त कालेज के प्राध्यापक स्वयं, दीक्षा, ई-पाठशाला आदि पर हिन्दी एवं अंग्रेजी में जो व्याख्यान उपलब्ध हैं उन्हें भी छात्रों को पहुंचाने संबंधी कार्यवाही करना सुनिश्चित करेंगे।

स्नातक व स्नातकोत्तर स्तर के प्रथम वर्ष के पाठ्यक्रम की पहली यूनिट 31 अक्टूबर तक पूरी करना है। इसी तरह दूसरी यूनिट का कोर्स नवंबर में पूरा करना होगा। इंटरनेट कनेक्शन की परेशानी होने पर दूरदर्शन व आकाशवाणी पर प्रसारित होने वाले व्याख्यान में शामिल होकर पाठ्यक्रम पूरा कर सकेंगे। स्नातक के हर कोर्स में तीनों वर्ष और स्नातकोत्तर के दोनों वर्ष के विद्यार्थियों के लिए अलग-लग व्यवस्था होगी। प्रसारण का समय और रेडियो चैनल नंबर अलग से जारी किया जाएगा।

01 अक्टूबर से स्नातक एवं स्नातकोत्तर कक्षाओं का आनलाईन प्रसारण प्रारंभ किया जाना है। अलग़-अलग विषय की कक्षाओं के वाट्सएप ग्रुप बनाए जा रहे हैं। जहां संबंधित प्रोफेसर उन्हें स्टडी मटेरियल उपलब्ध कराएंगे। विषयों को लेकर उनकी जो भी समस्याएं होंगी ग्रुप के जरिए हल की जाएंगी। संबंधित प्रोफसर विद्यार्थियों को गूगल मीट के जरिए भी पढ़ाई करवा सकेगें।