सिंध नदी उफान पर 5 फुट पुल के ऊपर पानी, विधायक ने खोला मोर्चा, सोशल पर हंगामा / SHIVPURI NEWS

शिवपुरी। लगातार बारिश के चलते सिंध नदी उफान पर आ गई है। जिससे पचावली पुल डूब गया और पानी पुल से 5 फिट ऊपर तक बह रहा है। वहीं भडौती मार्ग रेशम माता मंदिर पर सिंध 12 फिट ऊपर बह रही है। साथ ही गौराटीला मार्ग भी पूर्ण रूप से बंद हो गया है। भडौता मार्ग बंद होने से रन्नौद का सम्पर्क टूट गया है। वहीं गौराटीला मार्ग बंद होने से पिछोर आवागमन में व्यवधान उत्पन्न हो गया है। इसके चलते कोलारस के विधायक वीरेन्द्र रघुवंशी ने ठेकेदार के खिलाफ शोसल मीडिया पर मौर्चा खोल दिया है।

वहीं पचावली पुल डूबने के कारण शिवपुरी अशोकनगर का सम्पर्क भी टूट गया है। ऐसी स्थिति में इन क्षेत्रों के सैकड़ों गांव में आने जाने पर पाबंदी लग गई है। लोग नदी उतरने का इंतजार कर रहे हैं। रास्ते बंद हो जाने से सडक़ के दोनों ओर वाहनों की लंबी-लंबी कतारे भी लग गई हैं।

जानकारी के अनुसार शिवपुरी सहित आस-पास के जिलों में हो रही लगातार बारिश से नदी नाले उफान पर आ गए हैं। शिवपुरी की मुख्य धारा कही जाने वाली सिंध नदी भी अपने सुरूर पर है। जिसने अपना रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है। जिसका परिणाम यह हुआ कि शिवपुरी से अशोकनगर का रास्ता पूर्णत: बंद हो गया है। जिस पुल की सहायता से वाहनों का आवागमन होता था वह नदी में डूब गया है और पुल से 5 फिट ऊपर पानी बह रहा है।

सिंध नदी पर नया पुल बनाया जा रहा था। लेकिन लंबे समय से उस पुल का निर्माण अधूरा है। ऐसी स्थिति में वाहनों को पुराने जीर्णर्शीर्ण पुल से होकर गुजरना पड़ता है, जो अब पानी में डूबकर और खतरनाक हो गया है।

इसी तरह कोलारस से रन्नौद को जोडऩे वाला भडौता मार्ग भी सिंध का पानी आ जाने से बंद हो गया है। इस मार्ग पर करीब 12 फिट ऊपर पानी बह रहा है जो वहां मौजूद ठाकुरबाबा के मंदिर तक पहुंच गया है। इस स्थिति को देखकर ग्रामीणों का कहना है कि करीब 3 से 4 दिन तक पानी उतरना संभव नहीं है।

ऐसी स्थिति में रन्नौद का पचावली और भडौता से आवागमन बंद हो गया है। अब अगर किसी को रन्नौद और अशोकनगर पहुंचना है तो उन्हें शिवपुरी से पिछोर होते हुए रन्नौद और अशोकनगर के लिए शिवपुरी से गुना होकर जाना होगा। यहीं स्थिति कोलारस के गौराटीला मार्ग पर बनी हुई है।

यहां भी सिंध नदी उफान पर है और पुल डूब जाने से आवागमन बाधित हो गया है। जिसका परिणाम यह हुआ कि कोलारस से पिछोर, सुनाज, आकाझिरी व अन्य गांव में जाने वाले लोगों का सम्पर्क वहां से टूट चुका है। 

विधायक वीरेन्द्र रघुवंशी ने देहरदा ईसागढ मार्ग पर अधूरे पुल एवं सडक की दयनीय हालात के बाद शोसल मीडिया पर एक पोस्ट डाली। जिसमें विधायक वीरेन्द्र रघुवंशी ने अधूरे पडे सडक एवं पुल निर्माण को वर्षो बीत जाने के बाद भी टोल लिए जाने पर आपत्ति दर्ज कराई है। इसके साथ सडक पर हो रहे गड्डों को लेकर भी विधायक रघवंशी ने गुस्सा जाहिर की। इस बायरल पोस्ट में साफ देख सकते है कि विधायक रघुवंशी ने स्पष्ट पब्लिक से मांग की है कि क्या आपकों इस अधूरे मार्ग पर टोल देना चाहिए कि नहीं यह मांग उन्होंने शोसल मीडिया पर पब्लिक के बीच छोडी है।

उक्त पोस्ट वीरेन्द्र रघुवंशी विधायक कोलारस के अधिकारीक फैसबुक अकाउंट से पोस्ट किया गया है। जिसमें नदी से उपर वहते पानी तथा अधूरा पुल का भी फोटो अपलोड किया है। यह मामला जैसे ही शोसल पर अपलोड हुआ तो शोसल पर बबाल मच गया। इस दौरान सबसे महम बात यह रही कि पोस्ट अपलोड होने के महज 16 घंटे में सिंध नदी उफान पर आ गई। सिेध कि उफान पर आते ही सिंध ने इस मामले में आग में घी का काम किया।