भारी भरकम बजट वाले प्राइवेट स्कूलों को पटका सरकारी स्कूलों ने: पढिए 12वीं रिजल्ट का पूर्ण विश्लेषण / SHIVPURI NEWS

शिवपुरी। माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल बोर्ड द्धवारा हायर सेकंडरी परीक्षा के परिणामो में भारी भरकर बजट वाले स्कूलो को सरकारी स्कूलो ने पटक दिया हैं। सरकारी स्कूलो का परिक्षा परिणाम निजी स्कूलो से 2.28 फीसदी अधिक रहा। जिले का परीक्षा परिणाम 78.19 फीसदी रहा जो कि पिछले साल के 77.51 फीसदी परीक्षा परिणाम से 0.68 फीसदी अधिक है।

वहीं प्रदेश की टॉप-10 सूची में जिले के 6 होनहारो का दबदवा रहा जिसमें रंग्गढ़ रेनवो स्कूल की छात्रा अनुष्का गुप्ता ने जीव विज्ञान में प्रदेश की टॉपटेन सूची में पहला स्थान हासिल किया। वहीं प्रज्ञा बाल मंदिर हायर सेकंडरी लक्ष्मी बाई कॉलोनी स्कूल के छात्र गौरव ओझा कृषि संकाय में प्रदेश में अव्वल रहे।

प्राइवेट स्कूलों से ज्यादा रहा 220 सरकारी स्कूलों का रिजल्ट

जिले का हायर सेकंडरी की परीक्षा का परिणाम जहां पिछले साल से 0.68 फीसदी बढ़ गया वहीं जिले में संचालित 220 हाई स्कूल व हायर सेकंडरी स्कूलों ने जिले के प्राइवेट स्कूलों को पीछे छोड़ दिया। सरकारी स्कूलों का रिजल्ट इस बार 79.48 फीसदी रहा। जबकि प्राइवेट स्कूलों के सिर्फ 77.20 फीसदी विद्यार्थी ही परीक्षा में उत्तीर्ण हुए। इस तरह सरकारी स्कूलों का रिजल्ट प्राइवेट स्कूलों की तुलना में 2.28 फीसदी अधिक रहा।

75.62 फीसदी छात्रों की तुलना में 82.56 फीसदी छात्राएं हुईं उत्तीर्ण

जिले के इस बार के हायर सेकंडरी परीक्षा के नतीजों में 75.62 फीसदी छात्रों की तुलना में 82.56 फीसदी छात्राओं ने बाजी मारी। पिछले साल की तरह इस साल भी छात्राओं ने छात्रों को पीछे छोड़ दिया। जिले में कुल दर्ज 14 हजार 871 विद्यार्थियों में से 14 हजार 752 विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हुए थे जिसमें से 14 हजार 746 विद्यार्थियों का रिजल्ट घोषित किया गया। इसमें 11 हजार 531 विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए। वहीं 1262 विद्यार्थी फैल और 1953 विद्यार्थी पूरक में आए।

जिले में 9 हजार 220 फस्ट, 2239 सेकंड और 72 को मिली थर्ड डिवीजन

जिला परीक्षा कक्ष प्रभारी विमल श्रीवास्तव ने बताया कि हायर सेकंडरी परीक्षा के रिजल्ट में जिले में कुल पास हुए 11 हजार 531 विद्यार्थियों में से 9 हजार 220 परीक्षार्थी फस्ट डिवीजन में उत्तीर्ण हुए। जिसमें 5447 छात्र व 37 छात्रा शामिल हैं। वहीं 1528 छात्र और 711 छात्राएं सहित 2239 परीक्षार्थियों ने द्वितीय श्रेणी हासिल की। वहीं जिले के 72 विद्यार्थी तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुए जिसमें 47 छात्र और 25 छात्राएं शामिल हैं।

उत्कृष्ट विद्यालय ने फिर साबित की उत्कृष्टता

पिछले साल की तरह इस बार भी उत्कृष्ट विद्यालय में हायर सेकंडरी बोर्ड परीक्षा के नतीजों में अपनी उत्कृष्टता साबित कर दी। गणित संकाय में इस बार शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय क्रमांक-1 शिवपुरी के दिव्यांश ओझा पुत्र शिवलाल ने 500 में से 485 अंक हासिल कर प्रदेश में पांचवा स्थान हासिल किया।

वहीं जिले की टॉपटेन सूची में भी उत्कृष्ट विद्यालय के छात्रों का दबदवा रहा। जिसमें पांच छात्रों ने जिले की टॉप-10 सूची में स्थान बनाकर उत्कृष्ट विद्यालय का मान बढ़ाया। खास बात यह रही कि पिछले साल की तरह इस साल भी प्राचार्य विवेक श्रीवास्तव की अगुआई में उत्कृष्ट विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने जिले के साथ प्रदेश के पटल पर शहर का गौरव बढ़ा दिया है।

जिले के टॉप 3 में उत्कृष्ट विद्यालय के प्रदीप रहे अव्वल

जिले की टॉप-10 सूची में साइंस-गणित, वॉयलॉजी संकाय में शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय शिवपुरी के प्रदीप वर्मा पुत्र कमलकिशोर 500 में से 478 अंक हासिल कर जिले में अव्वल रहे। वहीं ह्यूमिनिटी संकाय में शा. उमावि करारखेड़ा की सोनम पुत्री सुरेश झा ने 456 अंक, कॉमर्स संकाय में बाल शिक्षा निकेतन शिवपुरी की हर्षिता पुत्री शत्रुघन शर्मा ने 460 अंक और कृषि संकाय में उत्कृष्ट विद्यालय शिवपुरी के कृष जाटव पुत्र राजेश जाटव ने 475 अंक हासिल कर जिले में पहला स्थान बनाया।

वहीं उत्कृष्ट शिवपुरी के अरूण शिवहरे पुत्र अनूप ने 477 अंक हासिल कर द्वितीय, शीतल पुत्री अरविंद महादुले ने 477 अंक प्राप्त कर द्वितीय व नैयनसी पुत्र राकेश महादुले ने 476 अंक प्राप्त कर जिले में तीसरा स्थान बनाया। वहीं मॉडल हा.से. स्कूल खनियांधाना के बृजेंद्र कुमार पुत्र घनश्यामदास कोली 476 अंक प्राप्त कर तीसरा स्थान हासिल किया।

इसी तरह ह्यूमिनिटी ग्रुप में उमावि सिरसौद के विकास पुत्र राकेश चिडार ने 454 अंक हासिल कर द्वितीय स्थान पाया। जबकि कॉमर्स संकाय में शिक्षा भारती बाल निकेतन स्कूल की लक्ष्मी धाकड़ पुत्री उत्तमसिंह धाकड़ 460 अंक प्राप्त कर पहला स्थान वहीं शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय शिवपुरी की प्राची गोयल पुत्री रविंद्र गोयल ने 451 अंक हासिल कर द्वितीय स्थान प्राप्त किया। इसके अलावा फाइन आर्ट ग्रुप में शासकीय कन्या उमावि पिछोर की रक्षा पुत्री कमल लोधी ने 500 में से 434 अंक हासिल कर जिले में पहला स्थान बनाया।

इनका कहना है

परीक्षा परिणाम उत्साह जनक हैं। सरकारी स्कूलों के परीक्षा परिणाम में हर साल बढ़ोत्तरी हो रही है जो विद्यार्थियों की अथक मेहनत के साथ-साथ सरकारी शिक्षकों की कार्य कुशलता को दर्शाता है। इस बार जिले के सरकारी स्कूलों का परीधा परिणाम प्राइवेट स्कूलों से 2.28 फीसदी अधिक रहा है।
दीपक पांडे, डीईओ शिवपुरी