2 माह से बोर खराब,कलेक्टर के हस्तक्षेप के बाद भी सुनवाई नहीं, पब्लिक ने घेरा कलेक्टर का बंगला / SHIVPURI NEWS

शिवपुरी। वार्ड नम्बर 20 तारकेश्वरी कॉलोनी और राजपुरा में पिछले लंबे समय से पेयजल संकट का सामना कर रहे नागरिकों का आज सब्र टूट गया और वार्ड की महिलाओं ने कलेक्टर बंगला पहुंचकर वहां घेराव कर दिया। लेकिन उनकी वहां भी समस्या का समाधान नहीं हुआ और कलेक्टर ने उन्हें कार्यालय आकर अपनी शिकायत दर्ज कराने की बात कहकर वहां से हटा दिया। कलेक्टर द्वारा समस्या का हल न होने पर वार्ड की महिलाएं सीएमओ निवास पर पहुंची। जहां सीएमओ के निवास का भी घेराव किया तो सीएमओ ने उन्हें जल्द से जल्द बोर सही कराने का आश्वासन दिया।

जानकारी के अनुसार वार्ड क्रमांक 20 तारकेश्वरी कॉलोनी सहित राजपुरा रोड़ पर स्थित वंशी राठौर के पास लगा बोर लगभग दो माह से खराब पड़ा है। तारकेश्वरी कॉलोनी में बोर को लेकर कलेक्टर अनुग्रह पी तक को शिकायत की गई और ठेकेदार पर भी कई गंभीर आरोपी लगाए गए। लेकिन इसके बाद भी वह बोर सही नहीं हो सका।

ऐसी स्थिति में तारकेश्वरी कॉलोनी में स्थित लगभग 200 से अधिक घरों में पेयजल संकट उपज गया। यही स्थिति राजपुरा रोड़ पर निर्मित हुई। नगर पालिका के अधिकारियों से बार-बार शिकायत के बाद भी नपा प्रशासन ने बोर सुधरवाने का कोई प्रयास नहीं किया। वार्ड के लोग बोर खराब होने के कारण अपना काम धंधा छोड़कर पानी की व्यवस्था में लगे रहते हैं।

बार-बार शिकायत के बाद भी जब कोई सुनवाई नहीं हुई तो आज सुबह लगभग एक सैकड़ा महिलाएं एकत्रित होकर कलेक्टर निवास पर पहुंची। जहां उन्होंने नारेबाजी कर अपनी समस्या कलेक्टर तक पहुंचाने का प्रयास किया। लेकिन कलेक्टर अनुग्रह पी ने अपने कर्मचारियों से उन्हें यह कहकर वापिस भिजवा दिया कि वह अपनी समस्या कार्यालय आकर बताएं।

जब वह कार्यालय पहुंची तो वहां मौजूद कर्मचारियों ने उनके शिकायती पत्र को वहां लगे बॉक्स में डालने की बात कहकर पल्ला झाड़ लिया। इस कारण वार्ड की महिलाएं कलेक्टर तक अपनी बात नहीं पहुंचा सकी। और वह कलेक्टर कार्यालय से निकलकर नगर पालिका पहुंची।

जहां कोई भी अधिकारी उन्हें नहीं मिला तो वह सीधे सीएमओ निवास पर पहुंची। जहां सीएमओ केके पटेरिया को महिलाओं ने घेर लिया और बोर सही कराने की मांग की। सीएमओ ने उन्हें आश्वस्त किया कि आज या कल तक उनके बोर ठीक हो जाएंगे और उन्हें पानी मिलने लगेगा।