17 साल की थी दुल्हन की उम्र: परिजनो ने दिया एक अनूठा तर्क, रोकी शादी / Shivpuri news

शिवपुरी। राती किरार गांव में एक नाबालिग की शादी होने की शिकायत 1098 पर की गई। प्रशासन की टीम इस मामले की जांच करने राती किरार पहुंची तो परिजनो ने एक अनूठा तर्क दिया कि साहब! लड़की तो बड़ी है पर कागजों में उमर कम कैसे हो गई। लड़की तो 19 साल की है स्कूल बालों ने कम लिख दी है।

जिला कार्यक्रम अधिकारी देवेंद्र सुंदरियाल को चाइल्ड लाइन से सूचना मिली कि राती किरार गांव के जाटव समाज में 17 वर्षीय लड़की का बाल विवाह 30 जून को होने वाला है। सूचना पर कार्रवाई के लिए बाल संरक्षण अधिकारी राघवेंद्र शर्मा, सेक्टर सुपरवाइजर तृप्ति श्रीवास्तव, विशेष किशोर पुलिस इकाई से प्रधान आरक्षक ओमप्रकाश शर्मा व आरक्षक राकेश परिहार ने मौके पर जाकर बालिका के उम्र के प्रमाणपत्रों को देखा।

जिसके अनुसार बालिका की उम्र 18 वर्ष पूर्ण होने में लगभग 10 माह कम थी। किंतु परिजनों का कहना था कि लड़की की उम्र 19 वर्ष है। संदेह की स्थिति में टीम ने परिजनों को चिकित्सा बोर्ड से बालिका की आयु निर्धारण जांच कराने का सुझाव दिया गया। हालांकि परिजनों ने टीम को लिखित बचन दिया कि लड़की की उम्र पूरी हो जाने के बाद ही विवाह करेंगे।