जिला चिकित्सालय: वाटर कूलर उगल रहे है गर्म पानी, इलाज से महंगा पेयजल हो गया / Shivpuri News

शिवपुरी। खबर जिला अस्पताल से आ रही हैं जहां इस आग लगाने वाली गर्मी में मरीजो को गर्म पानी पीने को मिल रहा हैं। अस्पताल में लगें वाटर कूलर इतना गर्म पानी उगल रहे है कि हाथ भी नही धो सकते। अटेंडरो का कहना हैं कि इस ईलाज से अधिक पैसा पानी की बोतले खरीदने में खर्च हो रहा हैं।

जैसा कि विदित हैं कि इस समय सूर्य देव अपने पूरे प्रकोप पर है पारा 45 के पास पहुंच रहा हैं। अस्पताल में पानी की टंकी छत पर रखी हुई है। इस कारण पानी उबल रहा हैं कहने को तो अस्तपाल में 9 वाटर कूलर लगे हैं लेकिन वह सभी खराब हैं इस कारण पानी सीधा गर्म निकल रहा हैं।

किसी भी स्थिती में इस पानी को पीना तो छोडिए आप हाथ भी नही धो सकते है। तपती गर्मी में तपता पानी। इस गर्मी में आम जन लोगो को ऐसी गर्मी में पानी पिलाने के लिए प्याउ लगाते हैं लेकिन जिला का सबसे बडा सरकारी अस्पताल अपने मरीजो और उनके अटेंडरो को ठंडा पानी भी नही उपलब्ध करा पा रहा है।

मरीजी के अटेंडर पानी के लिए अस्पताल परिसर में भटकते रहते हैं। मरीजो के अंटेडर अस्पताल मे बहार से पानी खरीदने को मजबूर हैं। अटेंडरो का कहना है कि जितना खर्चा इलाज ओर खाने में नही हो रहा है उतना पानी खरीदने में हो रहा हैं।

अपने मरीज के ईलाज के लिए आई रामकली बाई का कहना हें कि यहां गर्म पानी पीने को मिल रहा हैं,हमे अस्पताल से बहार पानी लेने को जाना पड रहा हैं। वही ब्रजेश का कहना हैं कि यह हमे पानी भी नही मिल रहा हैं पानी इतना गर्म है कि आप हाथ नही धो सकते हैं। हमे पानी पीने के लिए बोतल खरीदनी पडती हैं।

वही ब्रजभान सिंह यादव ने कहा कि अस्पताल में पिछले 3 दिन से हूूूं,यहां पीने को पानी नही मिल रहा हैं तात्या टोपे से पानी लना पडा रहा हैं। अस्पताल की टंकियो में इतना गर्म पानी आ रहा हैं कि आप अगर पीने की कोशिश करेंगें तो आपका मुंह जल जाऐगा। वही अपने साथी को लेकर ईलाज कराने आए मोनू कुशवाह का कहना हैं कि यहां पीने का पानी नही हैं वाटर कूलर गर्म पानी उगल रहे हैं। मरीज को कैसे यह पानी पिलाए। यहां दूर-दूर तक पानी उपलब्ध नही हैं। बाजार से बोतल खरीदनी पडती हैं।

इनका कहना हैं

जो कुलर लगाए गए हैं वह लगातार काम करने के कारण वह खराब हो गए हैं। इसलिए वाटर कूलर गर्म पानी दे रहे है। जब पानी ठंडा आता हैं तो लोग उससे नहाने लगते हैं हाथ पैर धोने लगते है। वाटर कूलर की क्षमता से अधिक पानी का परिवहन होने लगता है इस कारण वह गर्म पानी देने लगते हैं।
डॉ.पी के खरे सिविल सर्जन जिला चिकित्सालय