शांति समिति की बैठक में उछला मनोजी सोनी की मौत का मामला, धैर्यवर्धन विफरे / Shivpuri News

शिवपुरी। आज जिला सद्भावना और शांति समिति की बैठक में भाजपा नेता धैर्य वर्धन ने कोराना काल में कानून व्यवस्था ठीक बनाए रखने के लिए जहां जिले के आला अफसरों को धन्यवाद दिया वहीं कोल्ड ड्रिंक पीकर एक निर्दोष नागरिक मनोज सोनी के मामले को भी पुरजोर ढंग से उठाया।

उन्होंने कहा कि शिवपुरी जिले के खाद्य अधिकारी की कोई भूमिका नजर नहीं आती है । आखिर शहर में नकली या एक्सपायर्ड माल बिक कैसे रहा है ? जिले में कितने फूड इंस्पेक्टर हैं जो नियमित तौर पर फूड मटेरियल के स्टॉक की जांच करते हैं । कितने स्थानों पर रैंडम जांच की गई है यह मीडिया के माध्यम से जनता को बताना चाहिए ।

भाजपा प्रदेश कार्य समिति सदस्य धैर्यवर्धन ने कहा कि जो मेरा है वह बेकसूर था । उसके परिवार का भी कोई दोष नहीं था । उन्होंने कहा कि  जो मरा है वह इसी शहर का व्यक्ति था जिस शहर के लोग आज यहां शांति समिति की बैठक में बैठे हुए हैं ।

भाजपा के वरिष्ठ नेता धैर्यवर्धन ने कलेक्टर से कहा कि वे जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देशित करें ताकि निजी स्कूलों के शिक्षकों को मार्च , अप्रैल का वेतन का भुगतान किया जाना सुनिश्चित हो ।

धैर्य वर्धन ने कहा कि बैराड़ में यूको बैंक और एक कियोस्क संचालक की सहमति से लगभग पांच सौ किसानों के के सी सी निर्माण में बड़े घोटाले की शैकायतें प्राप्त हो रही है ।
प्याज बेचने आ रहे किसानों को भी शिवपुरी मंडी की मिली भगत से तौल में हेरा फेरी करके हवाई पट्टी के सामने बिचवा जा रहा है ।

वहां के लोगों द्वारा ट्रौली से प्याज गिराकर और तौल में कलाकारी करके किसानों का शोषण किया जा रहा है । उन्होंने कहा कि एसडीएम शिवपुरी इस प्रकरण को संज्ञान में लेकर किसानों के बीच वातावरण सुधारने हेतु आवश्यक कार्यवाही करें ।