MRP से अधिक रेटो में बिक रहा हैं समान: मजबूर हैं ग्राहक समान खरीदने के लिए | Shivpuri News

शिवपुरी। कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के चलते प्रधानमंत्री जी के आह्वान पर प्रदेश सरकारों द्वारा लॉक डाउन 3 मई तक बढ़ा दिया गया है। सुबह 7 से लेकर 10:00 बजे तक बाजार खुलता है बाजार में इतनी भीड़ टूट पड़ती है कि पुलिस प्रशासन परेशान बने हुए हैं, और लॉक डाउन का भरपूर लाभ कोलारस के व्यापारी सब्जी, फल व्यवसाई जमकर उठा रहे हैं। मनमाने दामों में आम जनता को सामग्री खपा रहे हैं।

प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा किराना दुकानों पर रेट लिस्ट लगा दी गई है। परंतु उस रेट लिस्ट मौजूद होने के बाद भी एमआरपी दाम से भी अधिक दाम लेकर सामग्री जनता को दे रहे हैं। वहीं सब्जी विक्रेता से लेकर फल विक्रेता तिगने भाव में सब्जी फल लोगों को दे रहे हैं आम जनता लूटने को विवश है प्रशासन द्वारा अभी तक ऐसे ठगों पर कार्रवाई नहीं की गई। जिसके चलते इनके हौसले बुलंद बने हुए हैं।

यही हाल ग्रामीण अंचलों का है ग्रामीण अंचलों मैं भी तिगने भाव में आम जनता को सामग्री दी जा रही है कुल मिलाकर कोलारस में संचालित थोक व्यापारी अधिक रेट में माल बेचने में लगे हुए हैं। इसी के चलते छोटे दुकानदार भी महंगे दामों में सामग्री बेचने को विवश हैं कोलारस में संचालित किराना दुकानें फल व्यवसाई सब्जी विक्रेता जमकर आम जनता को ठग रहे हैं।

प्रशासन के आला अधिकारियों को टीम बनाकर इन दुकानों पर छापामार कर कार्यवाही करना चाहिए।  जिससे इनके हौसले बुलंद बने हुए हैं आम जनता ठगने से बच जाए वैसे भी आम जनता की दिनचर्या चरमरा गई है और छोटे-मोटे  काम धंधे करने वाले मजदूर वर्ग के लोग और प्राइवेट ड्यूटी करने वाले युवा  लोग इस समय परेशान बने हुए हैं। हैं रखा हुआ रुपया खर्च कर रहे हैं दूसरी ओर तिगनी रेट में सामग्री मिलने से और अधिक यह लोग परेशान दिखाई दे रहे हैं

नकली सामग्री भी बेच रहे विक्रेता
कोलारस में ए बी रोड एप्रोच रोड पर संचालित हो कि किराना दुकानों पर नकली सामग्री  जैसे  मसाले, घी, तेल, डालडा सहित जरूरत की खाद्य सामग्री नकली विक्रय करने में लगे हुए हैं।  साथ ही नकली सामग्री ग्राहक को खपा रहे हैं कुल मिलाकर लॉकडाउन का भरपूर लाभ कोलारस के किराना व्यापारी उठा रहे हैं और जनता को खुलेआम ठगने में लगे हुए हैं खाद्य विभाग सहित प्रशासन को इन किराना दुकानों पर जाकर छापामार कार्यवाही करना चाहिए। जिससे दूध का दूध और पानी का पानी मौके पर ही हो जाए। आम जनता ठगने से बच जाए।