किसानों के नाम पर LONE निकालने वाले दो संस्था प्रबंधको पर धोखाधडी का मामला दर्ज

करैरा। जिले के करैरा पुलिस ने करही प्राथमिक कृषि शाखा संस्थान मर्या. के दो तत्कालीन प्रबंधक मदन तिवारी और व  एक अन्य पर मामला दर्ज किया है। उक्त दोनों आरोपियों ने फर्जी तरीके से दस्तावेजों में हेरफेर कर अलग-अलग किसानों के नाम से 4 लाख 25 हजार 639 रूपए की लोन राशि निकाल ली। जिसकी शिकायत के बाद पुलिस ने जांच की और जांच में दोनों को संलिप्त पाए जाने पर उनके खिलाफ भादवि की धारा 420, 467, 468 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया।
 
जानकारी के अनुसार 26 जून 2008 को करही प्राथमिक कृषि शाखा संस्थान मर्या. में पदस्थ तत्कालीन प्रभारी संस्था प्रबंधक और सहायक प्रबंधक मदन तिवारी ने क्षेत्र के कुछ किसानों के फर्जी तरीके से दस्तावेज तैयार किए और उनके नाम से अलग-अलग 4 लाख 25 हजार 639 रूपए आहरित कर लिए। जिसका खुलासा उस समय हुआ जब मुख्यमंत्री फसल ऋण माफी योजना के तहत उक्त किसानों को ऋण माफी के पत्र प्राप्त हुए।

जिन्होंने सहकारी केन्द्रीय बैंक में जाकर सम्पर्क किया तो उन्हें ज्ञात हुआ कि उनके नाम से ऋण जारी किए गए थे। जिसकी शिकायत पीडि़त किसानों ने जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के कार्यालय अधीक्षक श्रीकृष्ण शर्मा निवासी तुलसी नगर झांसी रोड़ शिवपुरी से शिकायत की। जिन्होंने किसानों के सभी दस्तावेजों की जांच की तो वह फर्जी पाए गए। इसके आधार पर श्री शर्मा ने थाने में एफआईआर दर्ज करने के लिए पत्र दिया और पुलिस ने उस पत्र की जांच के बाद कल प्रकरण दर्ज कर लिया।