स्मैकची ने मंदिर में पहुंचकर काट दी खुद की अंगुली | karera News

करैरा। बीते कुछ दिनों पूर्व पूरे जिले में स्मैक का कारोबार पूरे चरम पर था। परंतु जब से एसपी राजेश सिंह चंदेल ने जिले की कमान संभाली है। तब से मौत के इस कारोबार को करने बाले आरोपीयों में भय व्याप्त हो गया है। जिसके चलते स्मैकचीयों पर भारी हद तक अंकुश लगा है। परंतु जिला अभी भी पूरी तरह से इससे मुक्त नहीं हो पाया है। इसी के चलते करैरा के सिरसौद गांव में स्मैक के नशे का आदी एक युवक ने मंदिर में जाकर अपनी अंगुली काट दी। बताया जाता है कि उक्त युवक ने पूर्व में भी अपने हाथ का अंगूठा नशे के कारण काट दिया था।

जानकारी के अनुसार रविंद्र उर्फ धुरंधर पुत्र नरेश विश्वकर्मा उम्र 27 वर्ष निवासी सिरसौद मंगलवार की रात करीब 9 बजे खातीबाबा मंदिर पर पहुंचा। जहां उसने अपने दाएं हाथ की अंगुली काट ली। इस दौरान उसने जोर-जोर से घंटें बजाने शुरू कर दिए। जिसकी आवाज सुनकर ग्रामीण वहां एकत्रित हो गए। वहीं रविंद्र के परिवार के लोग भी वहां पहुंच गए।

जिन्होंने रविंद्र के हाथ से खून निकलता देखा और वह उस समय स्मैक का नशा किए हुए था। परिजनों ने उसके हाथ पर कपड़ा बांधा और उसे अपने साथ ले आए। परिजनों का कहना है कि रविंद्र चिलम और स्मैक का नशा करता है। जिससे वह काफी परेशान है। पिछले वर्ष रविंद्र ने इसी तरह अपना अंगूठा काट लिया था।