शिक्षा विभाग में खुलेआम रिश्वतखोरी का वीडियो लीक, आप भी देखिए | kolaras News

भोपाल। शिवपुरी के कोलारस विकासखंड के संकुल केंद्र शासकीय हायर सेकेंडरी स्कूल खरई तेंदुआ में पदस्थ अकाउंटेंट अनिल श्रीवास्तव संकुल प्राचार्य की नाक के नीचे बैठ कर खुल्लम-खुल्ला रिश्वत खोरी कर रहे है। संकुल में पदस्थ अतिथि शिक्षकों से अनुभव प्रमाण पत्र और नियमित कर्मचारियों से कर निर्धारण प्रपत्र भरने के लिए वेतन पत्रक देने के एवज में दादागिरी के साथ पैसा वसूला जा रहा है। 

अथिति शिक्षक से प्रति वर्ष के हिसाब से अनुभव प्रमाणपत्र बनाने के 200 से 300 रुपये लिए जा रहे हैं जबकि नियमित कर्मचारियों से वेतनपत्रक देने के 300 से 500 रुपये वसूले जा रहे हैं। संकुल अंतर्गत अतिथि और नियमित कर्मचारियों की संख्या लगभग 400 है। आरोप है कि यहां हर काम के लिए रिश्वत देनी पड़ती है। हर काम के लिए दाम फिक्स हैं और ऐसे वसूले जाते हैं मानो यही इनका सरकारी दायित्व हो। 

कर्मचारियों को पूरे वर्ष अकाउंटेंट से काम पड़ता है। कभी एरियर्स के लिए, कभी अतिथि की नियुक्ति के समय, तो कभी फार्म 16 के लिए। सबसे बड़ी बात रिश्वत खोर व्यक्ति डर-छुप कर पैसा लेता है पर इनको तो कोई डर ही नहीं है ये तो कर्मचारी को डरा धमका कर खुल्लम खुल्ला पैसा ऐसे लेते हैं जैसे ये इनका खुद का हक का पैसा है।