गुना वायपास स्थित होटलें और अस्थाई दुकाने हटाई, बस स्टॉप हटाकर 100 मीटर आगे किया स्थापित

शिवपुरी। फोरलेन वायपास स्थित रेलवे ब्रिज की मरम्मत के कारण हाईवे बंद होने से वहां से गुजरने वाले ट्रेफिक को शहर से निकालने के लिए प्रशासन ने वायपास क्षेत्र का चौड़ीकरण करने की दृष्टि से आज से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू कर दी है। यह कार्रवाई गुना वायपास पर स्थित पूर्व पार्षद के होटल से शुरू की गई।

इस होटल को पूर्व में तीन बार प्रशासन हटा चुका है। लेकिन हर बार पूर्व पार्षद उसी जगह पर होटल जमा लेता है। होटल के साथ-साथ मंदिर के पास से टायरों और अन्य ट्रांसपोर्टरों के स्टॉल भी हटाए गए। इस दौरान एसडीएम अतेंद्र सिंह गुर्जर, यातायात प्रभारी रणवीर यादव, सीएमओ केके पटेरिया सहित बड़ी संख्या में नगर पालिका और प्रशासनिक कर्मचारी मौजूद रहे।

अतिक्रमण जेसीबी की सहायता से हटाए जा रहे हैं। वहीं होटल के पास स्थित बस स्टॉप को भी वहां से हटाकर आगे 100 मीटर की दूरी पर पुन: स्थापित किया गया है। इसके पीछे अधिकारियों का तर्क है कि मोड़ पर बस स्टॉप होने के कारण बसें वहां खड़्ी होती हैं। जिससे जाम की स्थिति उत्पन्न होती है। इससे निजात पाने के लिए बस स्टॉप को यहां से हटाया गया है।

ज्ञात हो कि शहर से ट्रेफिक निकालने से पूर्व कलेक्टर अनुग्रह पी और एसपी राजेश चंदेल सहित एनएचएआई के अधिकारियों ने शहर का भ्रमण किया था और बुधवार को तीन घंटे वाहनों को रोककर शहर से निकालने की ट्रायल ली थी। लेकिन जो रूट तय किया गया था वह सडक़ हैवी वाहनों के आवागमन के लिए उपयुक्त नहीं थी और वहां सीवर चैम्बर भी थे।

जिस कारण इस रूट से वाहनों को निकालने की योजना रद्द कर दी और इसके बाद फोरलेन का वह हैवी ट्रेफिक पुराने वायपास से  ही निकालने का निर्णय लिया। लेकिन अधिकारियों ने हैवी वाहनों के शहर में आने पर जाम की स्थिति से निजात पाने के लिए वायपास क्षेत्र पर अतिक्रामकों को हटाकर सडक़ चौड़ीकरण करने का निर्णय लिया और इसी तारतम्य में शुक्रवार की सुबह नगर पालिका सीएमओ जेसीबी लेकर अतिक्रमण तोडू दस्ते के साथ गुना वायपास पहुंचे। जहां एसडीएम और यातायात प्रभारी भी पुलिस के साथ पहुंच गए।

सबसे पहले जेसीबी की सहायता से पूर्व पार्षद के तमन्न होटल को ध्वस्त किया। बाद में कई टायरों की दुकानें सडक़ किनारे रखी स्टॉलें, ठेले हटाए। वहीं बस स्टॉपेज के लिए बनाए गए स्टॉप को भी वहां से हटाने की कार्रवाई शुरू की। अतिक्रमण गुना वायपास, पोहरी घोड़ा चौराहा से ग्वालियर वायपास तक हटाया जाएगा।

सर्वाधिक जाम की स्थिति गुना और ग्वालियर वायपास पर रहती है। जहां अतिक्रमणकारियों ने सडक़ को घेर लिया है। जिस कारण शहर के ट्राफिक से ही जाम लग जाता था। लेकिन हैवी वाहन का शहर में प्रवेश होने से यह समस्या काफी गंभीर होने की स्थिति में है। जिसे ध्यान रखते हुए अतिक्रमण हटाने का अभियान शुरू किया गया है।