अधीक्षक का हिटलरशाही फरमान: छात्राओं को खाना दिया तो खेर नहीं, SDM पहुंची खाना लेकर

अभिषेक शर्मा/पोहरी। खबर पोहरी के एक छात्रावास से बालिकाओ की भूख से तडपने की आ रही हैं। एक छात्रावास की अधिक्षिका की शिकायत बच्चो ने क्या कर दी। मेंडम ने जेलर का रूप धारण कर दिया और अपने रसोईयो को तालीबानी फरमान जारी कर दिया कि आज से इन छ़ात्राओ का खाना बंद। ऐसा आदेश देकर मेडम छात्रावास से चली गई।

बताया जा रहा हैं कि शाम तक छात्राओ का हाल भूख से तडप—तडप कर बेहाल हो गया। किसी छात्रा के पास एसडीएम पोहरी पल्लवी वैदय का मोबाईल नंबर था उसने एसडीएम मेडम को फोन पर पूरी जानकारी दी और कहा कि हम सुबह से भूखे हैं मेडम ने हमारा खाना बंद करवा दिया हैं हमने मेंडम की शिकायत जनसुनवाई में की थी।

बताया जा रहा हैं कि शासकीय कन्या अनुसूचित जाति छात्रावास भटनावर की छात्राओ ने किसी मामले को लेकर छात्रावास की अधीक्षिका राजमुमारी कोली की शिकायत कलेक्टर मेंडम को थी। इसी बात से गुस्सा होकर अधीक्षिका ने छात्राओ का खाना बंद कर दिया। बताया गया है कि इस छात्राबास में 20 छात्राए रहती है।

छात्राओ की जानकारी पर एसडीएम पोहरी ने पोहरी में खाने के पैकेट बनबाए। जिन्हें लेकर वह शाम को छात्राबास में पहुंची। जहां भूख से तडप रही छात्राओ को अपने साथ ही खाना खिलाया। बताया जा रहा है एसडीएम पोहरी ने अधीक्षिका से संपर्क करने की कोशिश भी की लेकिन संपर्क नही हो सका। अब इस मामले में अधीक्षका की इस लापरवाही को लेकर जांच प्रतिबेदन बनाकर शिवपुरी कलेक्टर को भेज दिया गया हैंं।

इनका कहना है
रसोईए का कहना था कि मैडम में छात्राओं को खाना देने की मना कर दिया था। जिसके चलते उसने खाना नहीं बनाया। इसकी सूचना जैसे ही हमें मिली हम पोहरी से खाने के पैकेट बनबाकर लेकर गए। जहां पहुंचकर हमने छात्राओं को खाना खिलाया। उसके बाद मेंने मौके का पंचनामा बनबाकर जांच प्रतिवेदन कलेक्टर मैडम के पास भेज दिया है। साथ ही रसोईए को कहकर आए है कि कल छात्राओं को खाना देने की जिम्मेदारी है। उसका जो भी खर्चा होगा वह स्वयं वहन करेंगी। इस छात्रावास में 20 छात्राएं है। जिसपर से हम 25 पैकेट बनबाकर ले गए थे। सभी छात्राओं को भरपेट भोजन कराकर आए है।
पल्लवी वैद्य,एसडीएम पोहरी।