आरोप:छात्रावास में घुसकर वार्डन के साथ छेडछाड,छात्राओ से सैंटिंग कराने की डिमांड | karera News

सतेन्द्र उपाध्याय @ शिवपुरी। मामला शिक्षा विभाग से जुडा है और यह खबर शिक्षा विभाग को बदनाम करने वाली हैं। डीपीसी कार्यालय के एक एपीसी और सहायक शिक्षक ने छात्रावास चैंकिग के दौरान छात्रावास की वार्डन के साथ छेडछाड करते हुए छात्रावास में पढ रही छात्राओ से सैटिंग कराने की डिमांड कर डाली,इस मामले की शिकायत बालिका छात्रावास की वार्डन ने जनसुनवाई में की है।

जानकारी के अनुसार जिला शिक्षा विभाग का एक छात्रावास जो जिले के करैरा अनुविभाग के दिनारा कस्बे में हैं।यह छात्रावास राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के अंतर्गत हायर सेकेंडरी बालिका छात्रावास हैं। इस छात्रावास की वार्डन ने पिछली जनसुनवाई में कलेक्टर शिवपुरी का एक शिकायती आवेदन सौपा गया था। इस आवेदन के अनुसार इस छात्रावास की वार्डन ने शिक्षा विभाग के कर्मचारियो पर गंभीर आरोप लगाए हैं हालाकि इस मामले को दबाने का प्रयास किया जा रहा हैं।

यह है शिकायती आवेदन

आवेदन में उल्लेख किया हैं कि सर/मैडम इस छात्रावास में शासन के निर्देशानुसार  छात्रावासों में आध्ययनरत छात्राओं को उपलब्ध कराई जा रही मूलभूत सुविधाएं के  सत्यापन हेतु टीम गठित की गई थी। इस टीम में जिला पंचायत विभाग के एक अधिकारी शिक्षा विभाग की एक मेडम और डीपीसी कार्यालय शिवपुरी के एपीसी जेण्डर, वत्सराज राठौर का आगमन हुआ।

इन सभी के साथ प्राथमिक शिक्षक दाड स्कूल के सहायक शिक्षक अखिलेश गुप्ता भी इस छात्रावास में आए और यह शिक्षक छात्रावास की बार्डन को बिना बताए सीधे छात्रावास की छात्राओ के रूम में चले गए। शिक्षक अखिलेश गुप्ता और एपीसी जेण्डर वत्सराज राठौर के शराब का सेवन किए हुए थे इनके मुुंह से बदबू आ रही थी। नियमानुसार सहायक शिक्षक अखिलेश गुप्ता को इस छात्रावास में आने का अधिकार नही था,ओर न ही छात्राओ के कमरे में जाने का।

छात्रावास में समान के सत्यापन हैतु पहुंची टीम ने छात्राओ का समान चैक किया तो राठौर सर कह रहे थे कि यह पूरा समान नही हैं मैने कहां कि बाकी समान अलमारी में रखा हैं मैं निकाल कर लाती हूं,तो राठौर सर मेरे पीछे—पीछे कमरे में आ गए ओर मेरे साथ अश्लील हरकत कर दी।

इसके बाद शिक्षक अखिलेश गुप्ता भी मेेरे कमरे में आ गए इन्होने मुझे जाति सूचक गालिया देने लगें। मैने इनका विरोध किया तो इन्होंने मुझे छात्रावास से हटवाने की धमकी देने लगें,तुझे एक दिन में इस छात्रावास से हटावा देंगें।

इसी शिकायती आवेदन के अनुसार शिक्षक अखिलेश गुप्ता पर मामला सुलटाने के लिए छात्रावास की छात्राओ से सैटिंग कराने की बात कही,और एपीसी जेण्डर वतत्सराज राठौर पर रिश्वत में पैसे मांगने का आरोप लगाया गया हैं।

उक्त आवेदन 14 नबंवर की जनसुनवाई में कलेक्टर महोदय के नाम से दिया गया था आज दिनांक तक इस आवेदन पर कोई कार्यवाही नही की गई हैं। आवेदन कर्ता शिक्षिका का कहना हैं कि यहां से मुझे न्याय नही मिला तो न्यायालय की शरण लेनी पडेंगी। बताया जा रहा हैं कि इस आवेदन को डीईओ कार्यालय भेज दिया गया हैं इस मामले की जांच करने के लिए।