करोडो रूपए के बजट से बनने वाली सडक बनते ही धसकी,अब लीपापोती शुरू | Shivpuri News

शिवपुरी। पीडब्ल्यूडी द्वारा करोड़ों रुपए के बजट से बनाई गई नई सड़कों के घटिया काम की पोल अब खुलने लगी है। वर्तमान में सिद्धेश्वर रोड पर बनाई जा रही नई रोड तो निर्माण पूरा होने से पहले ही कई जगह से धसक चुकी है। कुछ दिनों पहले इस निर्माणधीन मार्ग की सड़क ईस्टर्न हाईट्स स्कूल व सिद्धेश्वर मंदिर के सामने धसक चुकी है।

इसके अलावा कई जगह घटिया काम हुआ है व पेवर्स टाईल्स लगाई गई हैं। इस घटिया काम के मामले को अब दबाने के प्रयास शुरू हो गए हैं। जिन जगहों पर यह रोड धसकी वहां पर अब लीपापोती की जा रही है और ऊपर की डामर को हटाकर उसे सही किया जा रहा है।

जबकि इस मामले में होना यह चाहिए कि यहां पर नीचे सड़क धसकी है तो जमीन बेश सही कर इसे पूरा सही किया जाना चाहिए था लेकिन पीडब्ल्यूडी अधिकारियों व ठेकेदार की मिलीभगत से यह लीपापोती की जा रही है।

गौरतलब है कि इस सड़क मार्ग को सीवर खुदाई के दौरान 15 से 20 फीट तक खोदा गया था। इसके बाद इसका बेश सही कर यहां पर सड़क निर्माण होना था लेकिन बजट ठिकाने लगाने के लिए केवल खानापूर्ति कर निर्माण काम किया जा रहा है जिस पर जिम्मेदार पीडब्ल्यूडी के अधिकारी कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं।

ठेकेदार को ब्लैक लिस्टेड करने की बजाए कर दिया भुगतान

इस सिद्धेश्वर रोड का निर्माण आरबीएम कंपनी द्वारा किया जा रहा है। घटिया काम के कारण खराब हुई इस सड़को सही कराने की बजाए कमीशन के फेर में पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने इस ठेकेदार को आनन-फानन में भुगतान कर दिया गया।

जांच का विषय यह है कि जब कई सड़कें हेंडओवर से पहले ही खराब हो गईं तो ऐसे ठेकेदारों को इन सड़कों का भुगतान क्यों किया गया। गुणवत्ताहीन बनाई गई इस सड़क मामले में आरबीएम कंपनी पर कार्रवाई होना चाहिए थी लेकिन अफसरों ने मेहरबानी दिखाते हुए अपने कमीशन के फेर में भुगतान कर दिया।

सिद्धेश्वर सहित अधिकतर जगह घटिया काम

शिवपुरी शहर में पीडब्ल्यूडी द्वारा 25 से ज्यादा सीसी व डामर रोडों का निर्माण किया है लेकिन इनमें से एक दर्जन से ज्यादा स्थानों पर घटिया काम हुआ है। सिद्धेश्वर रोड जो आरबीएम कंपनी बना रही है यहां पर विष्णु मंदिर के आगे रोड दो जगह से धसक चुकी है। घटिया पेवर्स टाईल्स और नालियों का निर्माण हो रहा है। निर्माण से पहले ही इस मार्ग पर घटिया काम की पोल खुल चुकी है।

कई सड़कें गारंटी पीरियड में धसकीं

पीडब्ल्यूडी की सड़कों का गारंटी पीरियड में खराब हो जाने की यदि निष्पक्ष जांच हो जाए तो कई विभागीय अफसरों पर गाज गिरना तय है। सूत्रों ने बताया कि यहां पर पदस्थ रहे एक पूर्व ईई की भूमिका संदिग्ध रही है। इनके कार्यकाल में ही यहां पर घटिया काम हुआ।

पिपरसमां रोड भी दो जगह से धसक चुकी है। इससे पहले एक करोड़ के बजट वाली सर्किट हाउस रोड को धसकने की भी जांच आज तक अधर में है। कुल मिलाकर जनता के पैसे को लूटने वाले पीडब्ल्यूडी अफसरों पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।