लुकवासा मंडी में हडताल पर गए हम्माल, किसान परेशान | kolaras news

कोलारस। जिले के कोलारस अनुविभाग के लुकवासा कृषि उपज मंडी में आज उस समय हडकंप की स्थिति निर्मित हो गई। जब एक दम से निर्णय लेकर पूरे हम्माल हडताल पर चले गए। हम्मालों की मांग है कि उनकी मजदूरी बढाई जाए। जबकि इस मांग पर व्यापारी तैयार नहीं है।

जानकारी के अनुसार आज सुबह से लुकवासा में मंडी प्रारंभ हुई। मंडी की डांक आधी हो पाई तभी एक दम से हम्मालों ने एक जुट होकर हडताल का निर्णय लेते हुए व्यापारीयों और किसानों की फसल को तोलने से इंकार कर दिया। हम्मालों के प्रतिनिधि मदनलाल जाटव,एवं हरीराम जाटव ने बताया है कि मंडी तोड वर्तमान में 4 रूपए पर बोरी है वह अब 5 रूपए बोरी लगेगी। इसके साथ ही लदाई पहले 3 अब 5रूपए ,सादा पाला पहले 12 अब 16 रूपए,टटिया से छनाई पहले 15 से 20 रूपए होगा।

50 किलों के कट्टे का पाला पहले 8 अब 10 लगेगा,60 किलो के कट्टे का पाला पहले 8 रूपए था अब 12 रूपए,धनियां फली अजबाईन इनका पाला पहले 8 रूपए बोरी था अब 10 रूपए लगेगा, बोरी भराई पहले 5 रूपए अब 6 रूपए लगेगी,माल चढाने धांक लगाने के पांच बोरी से अधिक पर पहले 3 रूपए अब 5 रूपए की मांग रखी,गोदाम की मंडी तोल और धांक लगाई पहले 7 रूपए अब 10 रूपए लगेगी।

इस दरों को लेकर हम्माल एकजुट होकर हडताल पर चले गए है। व्यापारी हम्मालों की इस मांग को देने तैयार नहीं है। जिसे लेकर अब यह अनिश्चित कालीन हडताल पर चले गए है। मंडी प्रबंधन का कहना है कि वह इस मामले पर विचार करने के लिए 15 दिन का समय चाहता है। चूंकि इस समय मंडी समिति भंग हो गई है। जिसके चलते अब मंडी का कार्यभार एसडीएम कोलारस के पास है। परंतु इन दरों को लेकर हम्मालों से वार्ता नहीं हो पाई। जिसके चलते किसान परेशान होते रहे।