ठेकेदार सिंध जलावर्धन की पाईप लाईन उखाड़कर घर ले गया | Shivpuri News

शिवपुरी। सिस्टम को शर्मसार करने वाली खबर आ रही हैं कि शिवपुरी प्यासे कंठो की लाईफ लाईन सिंध जलावर्धन योजना की पाईप लाईन को ठेकेदार सिर्फ इस लिए उखाड कर घर ले गया उसको विभाग ने इस पाईप लाईन का भुगतान नही किया। बताया जा रहा हैं कि सिंध जलावर्धन के भ्रष्टाचार की पूरी बुक का एक चेप्टर हैं।

जानकारी के अनुसार सिंध जलावर्धन की मुख्य लाइन करौंदी संपवेल तक बिछी है। करौंदी से फिजीकल संपवेल को भरने पाइप लाइन की जरूरत थी। इसलिए पीएचई और नगर पालिका ने ठेकेदार दीपक अग्रवाल से 950 मीटर जीआई पाइप बिछवा दी। उस समय संपवेल भरना चालू हो गया और सप्लाई भी होने लगी।

लेकिन इस काम का ना काेई टेंडर हुआ था और ना ही वर्क ऑर्डर ठेकेदार को दिया गया। इस काम की दूसरे ठेकेदारों ने शिकायत कर दी। कार्रवाई की नौबत बनती देख अधिकारियों ने बिल भुगतान को लेकर हाथ खड़े कर दिए। करीब 18 लाख रुपए का बिल भुगतान अंतत: नहीं हुआ तो सोमवार को लेबर लगाकर ठेकेदार ने लाइन उखड़वाना शुरू कर दी है। लाइन उखाड़े जाने पर अधिकारी चुप्पी साधकर रह गए हैं।

सिंध जलावर्धन योजना में एक ही क्षेत्र में दो-दो डिस्ट्रीब्यूशन लाइन बिछाई जा रहीं हैं। कहीं जीआरपी लाइन लीकेज हो रही है। 11 केव्ही सब स्टेशन का काम अधूरा पड़ा है। हाउस कनेक्शन तक नहीं हो पा रहे जिससे खुदी पड़ी सड़कें नहीं बन पा रहीं। सिंध के पानी की सप्लाई भी ठप पड़ी है। इन सब कारणों पर एक साथ गौर करें तो पूरी सिंध जलावर्धन योजना को ही मजाक बनाकर रख दिया है।

इस मामले में अपने राम का कहना हैं उक्त लाईन का टेंडर सिर्फ इस कारण नही किए गए कि अपने चहेते को लाभ मिल सके,चुपचाप टेंडर कराने का प्रोग्राम था,लेकिन शिकायतो के आद मीडिया में मामला आने के बाद टेंडर नही हो सके और भुगतान नही हो सका। इस कारण ठेकेदार अपनी पाईप लाईन उखाड ली। इस मामले में इस चेप्टर के रचियता एसएल बाथम, कार्यपालन यंत्री, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग शिवपुरी  अपने आफिस में मुंह में दही जमाए बैठे रहे।

भुगतान नहीं हुआ, इसलिए लाइन उखाड़ रहे हैं

आपसी संबंधों की वजह से पाइप लाइन बिछा दी। इसलिए वर्कऑर्डर नहीं लिया था। पीएचई ईई ने कह दिया कि लाइन उखाड़ लो। भुगतान नहीं मिलने पर लाइन उखड़वा रहे हैं। अब कभी बिना वर्कऑर्डर के काम नहीं करेंगे।
दीपक अग्रवाल, ठेकेदार

मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है

 पाइप लाइन किसने और किस आधार पर बिछाई है, मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। शिवपुरी आकर इस संबंध में जानकारी लेता हूं। केके पटेरिया, सीएमओ, नगर पालिका शिवपुरी

पाइप लाइन का काम नगर पालिका का है

शहर में पानी की पाइप लाइन का काम नगर पालिका का है। हमारे पास विधायक निधि का पैसा आया था। लेकिन हमने वापस लौटा दिया। यह मामला नगर पालिका क्षेत्र का है। एसएल बाथम, कार्यपालन यंत्री, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग शिवपुरी