प्रेमनारायण पत्रकारिता सम्मान से सम्मानित हुए विपिन मामा, MLA KP SINGH ने दिया सम्मान

शिवपुरी। जरूरतमंद छात्र छात्राओं को नि:शुल्क शिक्षा उपलब्ध कराने का वीडा उठाने वाले शिक्षा विद मधुसूदन चौबे वाकई बधाई के पात्र हैं। उन्होंने बीते कई सालों से शहर के बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा देकर ऊंचे मुकाम तक पहुंचाया है। शिक्षा के क्षेत्र में उनका यह उल्लेखनीय योगदान हैं। कई साल पहले पिछोर में मैंने  सेवानिव्रत्त हुए कुछ शिक्षकों से इसी तरह का कदम उठाने के लिए कहा था लेकिन यह नहीं हो सका। यह बात पिछोर विधायक केपी सिंह ने प्रेम नारायण पत्रकारिता एवं समाज सेवा सम्मान समारोह के दौरान सावरकर उद्यान में मौजूद नगर के गणमान्य लोग, विद्यार्थियों और पत्रकारों के बीच बुधवार को कही। कार्यक्रम की अध्यक्षता शिक्षक माधवशरण द्विवेदी ने की।

संचालन कवि अरूण अपेक्षित ने किया। चौबे को समाजसेवा के लिए सम्मानित िकया गया तो वहीं उत्कृष्ठ पत्रकारिता के लिए विपिन शुक्ला को वरिष्ठ पत्रकार प्रेमनारायण नागर सम्मान शॉल श्रीफल देकर सम्मानित िकया गया। विधायक केपी ने कहा कि आज सम्मानित होने वाले दूसरे पत्रकार िवपिन शुक्ला ने पत्रकारिता के क्षेत्र में सादगी और िनष्पक्षता के साथ आयाम तय किए हैं। आज के युवा पत्रकारों में वाणी के प्रति कठोरता देखने को िमलती हैं लेकिन पीत पत्रकारिता से दूर रहकर पूरी ईमानदारी से पत्रकार होने का धर्म निभाया है। इस मौके पर वरिष्ठ पत्रकार और कार्यक्रम के सह संयोजक प्रमोद भार्गव ने कहा िक समाजसेवा का सम्मान चौबे को देते हुए हमें अपार हर्ष हो रहा है।  

पिछले तीन दशक से गरीब व वंचित छात्र -छात्रों को नि:शुल्क शिक्षा दे रहे हैं। इस पुनीत कार्य का उन्होंने शुभारंभ शिवपुरी के ही बहुउद्देश्यीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में व्याख्याता रहते हुए कर दिया था। जबकि वे चाहते तो कोचिंग सेंटर चलाकर लाखों-करोड़ों रुपए आसानी से कमा सकते थे लेकिन सादा जीवन उच्च विचार रखने वाले चौवे को अनैतिक कमाई से कोई मोह नहीं। वे आज 75 साल के हैं और अपने घर से 2 किमी पैदल चलकर शिक्षा के इस केंद्र तक आते हैं और विद्यार्थियों को सरलतम रूप में भौतिक शास्त्र जैसा जटिल विषय पढ़ाते हैं।

उनके मार्गदर्शन में आज कई बच्चे चिकित्सक, अभियंता, एमपी-पीएससी में चयनित होकर देश को अपनी सेवाएँ दे रहे हैं। भार्गव ने कहा िक पत्रकारिता के क्षेत्र में अलग पहचान बनाने वाले विपिन शुक्ला ने शिवपुरी से ही प्रकाशित साप्ताहिक नवयुग से पत्रकारिता साल 1983 में आरंभ की और फिर आचरण, दैनिक भास्कर, पत्रिका और अब नईदुनिया में सेवारत हैं। हल्ला बोल, पक्षपाती व अतिवादी पत्रकारिता से वे हमेशा दूरी बनाकर चले, बावजूद वे पत्रकारिता के क्षेत्र में महत्वपूर्ण बने रहे। कार्यक्रम में वरिष्ठ पत्रकार प्रमोद भार्गव, प्रेम नारायण के पुत्र दिलीप नागर, अशोक कोचेटा, अजय खेमरिया, रंजीत गुप्ता, सेमुअल दास, लोकेन्द्र सेंगर, उमेश भारद्वाज, राजू शर्मा, लालू शर्मा, अरबिंद तोमर, कवि राम पंडित, दिनेश वशिष्ठ आदि साहित्यकार, राजनेता व विद्यार्थी मौजूद थे।