कलेक्टर की चेतावनी: CM HELPLINE की शिकायतो को समय सीमा ने निराकरण न करने वाले का कटेगा वेतन

शिवपुरी। सीएम हेल्पलाईन में दर्ज शिकायतों का एल-1 स्तर पर ही निराकरण किया जाए। कोई भी शिकायत बिना अटेण्ड किए उच्च स्तर पर नहीं जाना चाहिए। यदि कोई हितग्राही पात्र नहीं है एवं नियमानुसार उसे लाभ नहीं दिया जा सकता। तो ऐसी शिकायतों में स्पष्ट जवाब भरें।

बिना जवाब भरें शिकायत एल-1 से एल-2 एवं उच्च स्तर पर न पहुंचे। यह निर्देश कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने सभी जिला अधिकारियों को दिए है। उन्होंने कहा है कि समय-सीमा में शिकायतों का निराकरण न करने वाले अधिकारी का वेतन काटा जाएगा।

सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित अंतर्राविभागीय समन्वय बैठक में कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए है कि सभी अपने अधीनस्थों की भी मोनीटरिंग करें। कार्यालयों में सीएम हेल्पलाईन का कार्य देखने वाले अधिकारी एवं कर्मचारियों के कार्य की समीक्षा करें। कार्यालयों में इस प्रकार की व्यवस्था की जाए कि प्रतिदिन शिकायतों को देखा जाए एवं उनका निराकरण किया जाए। अन्यथा लापरवाही करने वालों के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी।

सोमवार को आयोजित बैठक में जनाधिकार समीक्षा के विषय में भू-ऋण पुस्तिका जाति प्रमाण पत्र, ऋण माफी, अनुसूचित जाति, जनजाति छात्रवृत्ति एवं प्रसूति सहायता आदि पर चर्चा की गई। कलेक्टर ने सभी राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिए है कि राजस्व संबंधी मामलों का निराकरण तीव्र गति से करें।

वर्तमान में अत्यधिक वर्षा के कारण जिन किसानों की फसल नष्ट हुई है। नुकसान का सर्वे किया जा रहा है, जिसका एसडीएम अपने-अपने अनुविभाग में भ्रमण कर मौके पर स्थिति का जायजा लें। फसल नष्ट होने पर पात्र किसानों को नियमानुसार सहायता दी जा सके, ऐसे किसानों को चिहिंत किया जाए।

इस काम में कृषि विभाग का अमला भी सक्रिय होकर काम करें। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  एच.पी.वर्मा, अपर कलेक्टर  आर.एस.बालौदिया, संयुक्त कलेक्टर  के.आर.चैकीकर, समस्त एसडीएम एवं विभिन्न विभागों के जिला अधिकारी उपस्थित थे।