मुख्यधारा से भटके कैदियों के बीच पहुंचा लायन्स व लायन्स क्लब, मोटिवेशन कार्यक्रम आयोजित | Shivpuri News

शिवपुरी। इस संसार में प्राणियों के अतिरिक्त महत्वपूर्ण जीव है इंसान लेकिन क्या इंसान ने अपनी इंसानियत, धैर्य, लोभ, मोह, माया पर नियंत्रण किया है जबाब होगा नहीं, क्योंकि आज सर्किल जेल शिवपुरी में आने वाला हरेक कैदी कहीं ना कहीं अपने अपराध बोध से ग्रसित होकर यहां पहुंचा है तो क्या, इससे डरने की नहीं बल्कि संभलने और समझने की आवश्यकता है, यहां अपने मन के विचारों में संगत, आदत और बदलाव लाने पर विचार करें और यदि विचारों को आपने बदल लिया तब निश्चित रूप से आपका जीवन भी बदल जाएगा।

आप भी इंसान है आपके माता-पिता, भाई-बहिन-बच्चे सभी है फिर क्यों अपराध कर जेल आना पड़ता है इसलिए सोचें और विचार करें ताकि आपको कभी जेल ना आना पड़े, ऐसे कार्य करें जिससे आपकी पहचान हो, तभी आप सही अर्थों में इंसान की इंसानियत को समझ और समझा सकते हो। यह समझाईश और मोटिवेट करने का कार्य किया मोटिवेशनल स्पीकर शैलेन्द्र सिंह ने जो स्थानीय जिला सर्किल जेल शिवपुरी में समाजसेवी संस्था लायन्स व लायनेस क्लब ऑफ शिवपुरी साउथ के तत्वाधान में आयोजित मोटिवेट कार्यक्रम के माध्यम से सर्किल जेल में बंद कैदियों की मनोदशा बदलने का कार्य कर रहे थे।

मोटिवेट कार्यक्रम में लायन्स क्लब साउथ अध्यक्ष ला.पारस जैन, सचिव पवन जैन नरवर, लायनेस साउथ अध्यक्षा श्रीमती नीलू जैन, सचिव श्रीमती नीलम बीसानी, कोषाध्यक्ष श्रीमती रूचि सांखला, सर्किल जेल के जेलर अतुल सिन्हा व मोटिवेटर शैलेन्द्र सिंह, डॉ.आशीष व्यास मंचासीन थे। सर्वप्रथम भगवान श्रीकृष्ण के चित्र पर दीप प्रज्जवलन कर माल्यार्पण किया गया तत्पश्चात जेलर श्री सिन्हा व मोटिवेटर श्री सिंह का माल्यार्पण कर स्वागत किया गया। कार्यक्रम का सफल संचालन ला.राकेश जैन प्रेम स्वीट्टस द्वारा किया गया।

कार्यक्रम में लायन्स व लायनेस साउथ के पदाधिकारियों व सदस्यों में नरेन्द्र जैन भोला, संजीव जैन माणिक, जयप्रकाश चौधरी, विनय गुप्ता, सुशील गोयल, एड.सतीश मंगल, प्रवीण गुप्ता, सतीश अग्रवाल व श्रीमती रूचि जैन, श्रीमती मंजू अग्रवाल, श्रीमती ऋचा गुप्ता, श्रीमती नीलू गुप्ता, श्रीमती प्रगति जैन, श्रीमती सिम्मी जैन, श्रीमती अल्का जैन, श्रीमती मीना जैन, श्रीमती अंजू सिंह, श्रीमती राज बिन्दल आदि सहित अन्य लायन साथी मौजूद थे।

कार्यक्रम में मोटिवेशनल स्पीकर शैलेन्द्र सिंह ने कैदियों के जीवन में बदलाव लाने के लिए विभिन्न उदाहरणों, कहानियों के माध्यम से भी बदलाव लाने के लिए उन्हें प्रेरित किया गया और इस दौरान जिला सर्किल जेल के जेलर अतुल सिन्हा द्वारा लायन्स व लायनेस क्लब साउथ के कार्यों को सराहा कि उन्होंने मोटिवेट के लिए जिला सर्किल जेल का चयन किया, क्योंकि यहां जो कैदी व कहीं ना कहीं भटक गए और अपराध बोध होकर जेल में मौजूद है, धार्मिक, सामाजिक और आध्यात्मिक के अतिरिक्त अब मोटिवेशनल के माध्यम से कैदियों में सुधार आए हमारा प्रयास होगा,ऐसे में इन्हें सही दिशा और दशा की आवश्यकता है जो लायन्स क्लब साउथ ने कर दिखाया है।

कार्यक्रम समापन पर अंत में जेलर अतुल सिन्हा को स्मृति चिह्न व मोटिवेशनल स्पीकर शैलेन्द्र सिंह को स्मृति चिन्ह एवं बेस्ट मोटिवेशनल स्पीकर अवार्ड भी प्रदान कर सम्मानित किया गया। आभार प्रदर्शन लायन्स साउथ सचिव पवन जैन नरवर द्वारा व्यक्त किया गया। कार्यक्रम समापन पश्चात ला. आलोक-श्रीमती राज बिन्दल के सुपुत्र के जन्मदिन अवसर पर कैदियों के लिए मिष्ठान वितरित किया गया।