सिंध का रौद्र रूप: टापू बने आधा दर्जन गांव, दो भाई बिछड़े, ट्यूब के सहारे जिंदगियां | kolaras News

हार्दिक गुप्ता/कोलारस। खबर जिले के कोलारस अनुविभाग के ग्राम लालपुर और हरिपुर से आ रही है। जहां सिंध के रौंद्र रूप ने दो भाईयों को बिछडा दिया है। हालात यह है कि दोनों भाई सिंध के रौंद्र रूप के चलते अलग हो गए है। जिन्हें एक दूसरे से मिलने के लिए ट्यूव का सहारा लेना पढ रहा है। यह अकेला मामला नहीं है। अपितु सिंध के उफान पर होने के चलते कोलारस क्षेत्र के लगभग आधा दर्जन गांव टापू में तब्दील हो गए है।

जानकारी के अनुसार लालपुर एवं हरिपुर के बीच बने नाले की पुलिया पर सिंध नदी उफान पर होने के चलते 3 माह से लगभग 4 फिट पानी भरा हुआ है। जिसके चलते हरिपुर, मुबारिकपुर, टपरियन, गोपालपुरा, बीजरी, देहरदा गणेश, कोलारस, भडोता, टामकी,रामपुर, सहित अनेक गाँवो से संपर्क टूट गया है। ग्रामीणो को 35 किलोमीटर घूम के जाना पड़ रहा है।

इस दौरान सबसे अहम बात यह सामने आई है कि पुलिया पर पानी भरा होने के चलते दो भाई आपस में बिछड गए है। बताया गया है कि हरिपुर गांव का जगदीश दांगी पुलिया के इस तरफ तो महाराज सिंह दांगी का घर पुलिया की दूसरी और है। 

दोनों आपस में सगे भाई है। जिन्हें एक दूसरे से मिलने के लिए ट्यूब का सहारा लेना पडता है। बताया जा रहा है कि यहां के निवासी आज भी अपने आप को नरकीय जीन जैसा मान रहे है। गांव के ही वीरसिंह दांगी ने बताया है कि उसका गांव सिंध के इस पार है। जबकि उसके खेत सिंध की दूसरी और। जहां मवेशीयों के लिए चारा लाने के लिए उन्हें ट्यूव का सहारा लेना पडता है। जिससे उन्हें हमेशा जिदंगी का खतरा बना हुआ है।