अमानवीयता की हद पार: पुलिस और नंप ने नहीं भेजा शव वाहन तो खटिया पर ले गए लाश | karera News

करैरा। खबर जिले के करैरा अनुविभाग की है। जहां बीते रोज एक युवक की कुंए में डूब जाने के से हुई मौत के बाद पुलिस और नगर पंचायत मिलकर एक शव वाहन की व्यवस्था नहीं कर सकी। जिसके चलते म्रतक के परिजन उक्त लाश को खटिया पर डालकर पैदल पैदल पीएम हाउस तक ले कर जाना पडा। इस मामले की सूचना पर डायल 100 मौके पर पहुंची परंतु लाश को देखकर वह बापिस लौट गई।

जानकारी के अनुसार झांसी से करैरा रिश्तेदारी में आए लक्ष्मण परिहार की गुरुवार काे कुएं में डूबने से मौत हो गई। मौत की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कुएं से बाहर निकलवाया। लेकिन शव को पीएम हाउस तक ले जाने के लिए पुलिस और नगर परिषद शव वाहन की व्यवस्था नहीं करा पाई। मजबूरी में परिजन और रिश्तेदार को शव खटिया पर रखकर एक किलोमीटर तक पैदल ही चलकर अस्पताल के पोस्टमार्टम हाउस ले जाना पड़ा।

लोगों के फोन करने पर पुलिस की डायल 100 गाड़ी भी आ गई थी, जो शव देखकर लौट गई। मालूम हो कि युवक की मौत की सूचना पर पुलिसकर्मी पंचनामा बनाने के लिए आए। इसके बाद परिजन से कह गए कि लाश लेकर अस्पताल आ जाना। शव को पीएम हाउस तक ले जाने वाहन की व्यवस्था क्यों नहीं कराने को लेकर करैरा टीआई राकेश शर्मा का कहना है कि वे संबंधित पुलिसकर्मियों से पूछताछ करेंगे।