एक खबर के 2 पहलू: क्या अधिकारी डर गए + सांसद जी की चाय की झांकी = युवाओं के भविष्य पर सांसद जिंदाबाद

Ex-rey@Lalit mudgal / शिवपुरी। एक खबर जिसके 2 पहलू नजर आ रहे हैं। पहला पहलू कि शिवपुरी के अधिकारी डर गए ,दूसरा पहलू यह हैं कि अपने प्रिय सांसद जो पिछले दौरे पर चौराहे पर चाय पीकर एक पब्लिक के दिलो में घुसने का प्रयास किया। एक हमारे फूल छाप पत्रकारो ने इस चाय की चुस्की की झांकी जमाई। लेकिन अब लिखना पढ रहा हैं कि युवाओ के भविष्य पर सांसद जिंदाबाद। इन दोनो ही पहलूओ में युवाओ का भविष्य बर्बाद हो रहा हैं आईए इस युवाओ के भविष्य को बर्बाद होने बाली खबर का एक्सरे करते हैं।

अभी सरकारी पत्रकार ने पिछली 4 सिंतम्बर को प्रेस नोट जारी किया था। पहले पढिए क्या कहा था कलेकटर ने इस सैनिक भर्ती की रैली की व्यवस्था को लेकर बैठक में

सैनिक भर्ती की व्यवस्था के संबंध में बैठक आयोजित

शिवपुरी। आगामी माह में भारतीय सेना की भर्ती शिवपुरी जिले में की जाना है। जिले में सैनिक भर्ती रैली के लिए आवश्यक व्यवस्था के संबंध में बुधवार को बैठक आयोजित की गई। बैठक में कर्नल नेगी ने भर्ती प्रक्रिया की जानकारी दी।

इस अवसर पर एडीएम श्री आर.एस.बालोदिया, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री गजेन्द्र सिंह कंवर, डिप्टी कलेक्टर श्री मनोज गरवाल, जिला परिवहन अधिकारी श्रीमती मधु सिंह एवं अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने कहा है कि जिले में आयोजित होने वाली सैनिक भर्ती के लिए आवश्यक स्थान उपलब्ध कराने के साथ ही अन्य व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने विभिन्न विभागों के अधिकारियों को आवश्यक जिम्मेदारियां भी सौंपी है। उन्होंने कहा है कि भर्ती के दौरान कानून व्यवस्था एवं शांति व्यवस्था बनी रहे।

इसके लिए पुलिस द्वारा व्यवस्था की जाए और आवश्यक पुलिस बल भी तैनात किया जाए। भर्ती में बड़ी संख्या में युवा शामिल होते है। इसलिए परिवहन विभाग द्वारा आवागमन के लिए बसों की पर्याप्त व्यवस्था रहे। भर्ती कराने के लिए आने वाली टीम के लिए ठहरने एवं खान-पान आदि व्यवस्थाएं भी की जाए।

इस प्रेस नोट से यह सिद्ध् होता हैं कि इस माह में सेना की भर्ती होनी थी,और भर्ती का आयोजन शिवपुरी में ही होना था। लेकिन अब वह कैसिंल हो गई। बताया जा रहा हैं कि अब सेना की भर्ती का कार्यक्रम शिवपुरी की जगह भोपाल होने जा रहा हैं। ऐसा क्यो हुआ सटीक जानकारी भी नही हैं कलेक्टर शिवपुरी से इस मामले में प्रतिक्रिया चाही गई लेकिन संपर्क नही हो सका।

लेकिन बताया जा रहा हैं कि सैनिक भर्ती में आने वाले युवाओ की संख्या का अनुमान देखकर प्रशासन डर गया,कही लो एंड आर्डर न बिगड जाए इस कारण शिवपुरी के अधिकारियो ने इस जिम्मेदारी को लेने से बचना चाहा। इस कारण उक्त भर्ती का आयोजन भोपाल होना बताया जा रहा हैं।

खबर का दूसरा पहलू:युवाओ के भविष्य पर सांसद जिंदावाद
यह फोटो में अपने शिवपुरी—गुना के सांसद एक ज्ञापन पकडे नजर आ रहे हैं,यह ज्ञापन शिवुपरी के युवाओ ने दिया था कि सैना की भर्ती का आयोजन शिवपुरी में हो,कही ओर न हो। सांसद महोदय ने आश्वासन भी दिया था लेकिन सेना की भर्ती का आयोजन शिवपुरी नही हो रहा हैं भोपाल हो रहा हैं सांसद महोदय ने इस ज्ञापन को कोई महत्तव नही दिया।

जिन युवाओ की वोट की ताकत पर महाराज के 250 साल पुराने रिश्तो में दरार आ गई। इस लोकसभा के चुनाव की देश की 5 सबसे बडी खबरो में से एक थी ज्योतिरादित्य सिंधिया का चुनाव हारना।

दोनो ही पहलुओ का बराबर करे तो शिवपुरी के बेरोजगारो के भविष्य से खिलवाड। अभी सांसद महोदय का 8 तारिख को दौरा था,सांसद महोदय ने आम पब्लिक के साथ चौरहे पर चाय की चुस्की मारी। प्ले ग्राउंड में सुबह मोर्निंग वॉक भी की,जनता से मिले। जनता से सीधे संबंध जोडने का प्रयास भी किया गया। बताया गया कि अपने सांसद कितने सहज और सुलभ हैं। भाजपा माईडेंड पत्रकारो ने महिमा मंडन भी किया इस दौरे की बडी—बडी खबरे भी प्रकाशित की।

लेकिन चाय की चुस्कियो में युवाओ का भविष्य नही हैं सांसद महोदय,आपकी केन्द्र में सरकार हैं और सिंधिया के क्षेत्र में आपको बल देने के लिए अवश्य आपकी सरकार सुनती। आप मन से प्रयास करते तो शायद इस सैना की भर्ती का आयोजन शिवपुरी हो जाता,लेकिन ऐसा नही हुआ।अगर यह भर्ती शिवपुरी में होती तो बडी संख्या में शिवपुरी का बेराजगार युवक भाग लेता। भोपाल गिने—चुने ही युवा जाऐंगें। ऐसा भी नही हैं कि सैना की भर्ती का आयोजन पहली बार हो रहा हैं,इससे पूर्व भी हुआ है।

कुल मिलाकर कहने का सीधा अर्थ हैं कि सुलभ और सहज से काम नही चलेगा,प्रयत्नशील और प्रयास से भी काम चलता हैं पूर्व सांसद चाहे सुलभ और सहज नही थे लेकिन प्रयासशील अवश्य थे। शिवपुरी में मेडिकल कॉलेज सहित कई कॉलेजो की बडी—बडी ईमारते इस बात की ग्वाही दे रही हैं। अब भी समय है प्रयास करे कि उकत सैना की भर्ती की रेली का आयोजन शिवपुरी में हो। नही तो हम तो कहेंगें ही युवाओ के भविष्य पर सांसद जिंदाबाद।