पैसों की डिमांड और पुलिस की धमकी दे रही थी प्रेमिका, सर पर पत्थर पटक कर की हत्या | Shivpuri News

शिवपुरी। पुलिस ने एक महिला की गुमशुदगी का पीछा करते हुए महिला को तलाश कर लिया,लेकिन अब महिला जिंदा नही हैं। उसकी हत्या उसके प्रेमी ने कर दी। बताया गया हैं कि उक्त विवाहिता का अफेयर उसके प्रेमी से चल रहा था,महिला उससे पैसे की डिंमाड कर रही थी और इस पैसो के डिमांड से परेशान प्रेमी ने उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने गुमशुदगी से मर्डर में कनवर्ड हुए इस मामले का सुलझाते हुए हत्या के आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया हैं।

जानकारी के अनुसार संपत (40) पत्नी शिवनारायण जाटव निवासी लुधावली बेलदारी का काम करती थी इसके साथ ही परमू शाक्य उम्र 30 साल हरिविलाश शाक्य भी बेलदारी का काम करता था। पिछले 4 साल इन दोनो के आपसी संबंध थें। बताया जा रहा है कि 18 जुलाई की दोपहर करीब 3 बजे अपने घर पर 30 मिनट में वापस आने की कहकर निकली थी। उसके बाद से संपत का कहीं सुराग नहीं लगा। दूसरे दिन भी पता नहीं चला तो 19 जुलाई को देहात थाने आकर सूचना दी।

पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर महिला की तलाश शुरू कर दी। परिजनों के शक के आधार पर लोगों से पूछताछ की जा रही थी। पुलिस ने आरोपी परमू शाक्य (30) पुत्र हरविलाश शाक्य निवासी कमलागंज को बुलाकर सख्ती से पूछताछ की तो उसने हत्या करना स्वीकार कर लिया। साथ ही बताया कि महिला को अपनी बेटी की शादी करना थी। वह पैसों के लिए बार-बार दबाव बना रही थी। इसलिए उसकी हत्या कर दी।

मंदिर जाने के बुलाया और हत्या कर दी

आरोपी ने खुलासा किया कि मृतिका लगातार पैसो की मांग रही थी,ओर न दने पर पुलिस में जाने की धमकी दे रही थी। मन में सोचकर 18 जुलाई को निकला और मंदिर जाने के बहाने बुला लिया। बांकड़े हनुमान मंदिर से पहले नेशनल पार्क में पहाड़ी पर चले गए। यहां दोनों के बीच मुंहवाद हुआ और हाथापाई होने लगी। परमू ने बड़ा पत्थर उठाकर संपत के सिर पर पटक दिया। फिर दो बार और पत्थरों से सिर कुचल दिया।

कपड़े व चप्पल से हुई मृतिका की पहचान, फिर भी पुलिस डीएनए टेस्ट कराएगी

आरोपी की निशानदेही पर लाश बरामद हो गई, कुछ दिन बाद लाश कंकाल बन जाती। तीन दिन पुरानी होने की वजह से चेहरे से पहचान नहीं हो पा रही थी। परिजनों ने चप्पल और कपड़ों से मृतिका की पहचान की है। एफएसएल प्रभारी डॉ एचएस बरहादिया का कहना है कि डीएनए टेस्ट कराने मृतिका के दांत और परिजनों के खून का सैंपल लिया है। ताकि मृतिका की सही पहचान हो सके।