Ads 720 x 90

CJM ने की स्कूली बसों की चेकिंग, 80 बसों में से 63 निकली अनफिट, 4में भेड़ बकरियों की तरह ​भरें मिले बच्चे | SHIVPURI NEWS

शिवपुरी। आज सुबह शहर की स्कूली बसों में उस समय हडकंप मच गया जब एक साथ बसों की मजिस्ट्रेट चैकिंग हुई। इस चैकिंग के दौरान माननीय न्यायाधीसों ने 80 बसों की चैकिंग की तो उसमें से 63 बसें अनफिट पाई गई। सभी बसों में कोई न कोई कमीं सामने आई। जिसपर माननीय न्यायालय ने इन बसों को कार्यवाही की जद में ले लिया है।

आज सुबह माननीय न्यायाधीस सीजेएम राधाकिशन मालवीय,माननीय जेएमएफसी सेलजा गुप्ता,जेएमएफसी रानों बघेल ने पुलिस की तीन टीम बनाकर एक साथ ही तीन स्थानों पर बसों की चैकिंग की। इस दौरान माननीय न्यायाधीसों ने जब स्कूली बसों के कागजाद मांगे तो अधिकतर बसों में बीमा फिटनेश नहीं पाया गया। जिसपर माननीय न्यायालय ने इन सभी बसों को कार्यवाही की जद में ले लिया है।

बताया गया है कि माननीय न्यायाधीश सीजेएम राधाकिशन मालवीय के साथ यातायात थाना प्रभारी रणवीर सिंह यादव और कोतवाली पुलिस ने स्कूल बसों की चैकिंग पॉई्ंट पोहरी चौराहे पर लगाया। जेएमएफसी माननीय सेजला गुप्ता ने झांसी तिराहे पर यातायात थाने में पदस्थ सूबेदार भानू प्रताप सिंह सिकरवार के साथ देहात थाना पुलिस की मौजूदगी में स्कूली बसों की चैकिंग की। इसके साथ ही माननीय जेएमएफसी रानों बघेल ने फिजीकल थाना प्रभारी दीप्ती तोमर के साथ सूवेदार नीतू अवस्थी के साथ ग्वालियर बायपास पर स्कूली बसों की चैकिंग की।

इस दौरान माननीय न्यायाधीशों की इस कार्यवाही से स्कूली बस संचालकों में हडकंप मच गया। जब बसों की चैकिंग की तो सैंट चाल्र्स सहित हॉलीबुड स्कूल की बसों मे छात्र छात्रा भेड बकरियों की तरह भरे मिले। इस चैकिंग के दौरान 80 बसों में से 63 बस अनफिट पाई गई। जिसमें 6 बसों पर बीमा,8 बसों के ड्रायवर बिना लाईसेंस के बस चलाते मिले। 

10 बसों के पास तो परमिट तक नहीं था। साथ ही 18 ड्रायवर बिना बर्दी के बसों का संचालन करते मिले। 10 बसों में फास्ट एण्ड बॉक्स और अग्निशामक यंत्र एक्सपाईरी डेट का मिला। जिन्हें कार्यवाही की जद में लेते हुए माननीय न्यायालय ने बच्चों को छोडने के बाद थाने लाने की बात कही। उसके बाद अब इन बसों को न्यायालय में पैश किया जाएगा। बताया गया है कि सेंट चाल्र्स और हॉलीबुड स्कूल की बसों में बच्चे छमता से अधिक पाए गए। इसके साथ ही चैकिंग के दौरान हॉलीबुड स्कूल की बस  का ड्रायवर कार्यवाही के दौरान बच्चों को छोडकर फरार हो गया।