लखेश्वर स्कूल के छात्रों की अंकसूची न मिलने से छात्रों का भविष्य अधंकार में | BAIRAD, SHIVPURI NEWS

बैराड़। शिवपुरी जिले की बैराड़ तहसील के विद्यालय संचालक ने शासन के सारे नियमों को ताक पर रखकर अपने विद्यालय का खुलेआम संचालन कर रहा हैं उसके प्राचार्य का कहना रहता हैं कि शासन के नियम तो मेरी जेब में ही रहते हें। इसी का जीता जागता उदाहरण बैराड़ नगर में संचालित लखेश्वर हायर सेकेण्डरी स्कूल की हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी वोर्ड परीक्षा की अंकसूची अभी तक अप्राप्त है।

लखेश्वर स्कूल की अंकसूची लार्ड लखेश्वर स्कूल के संचालक द्वारा जिले  के अधिकारी से सांठ गांठ कर लखेश्वर स्कूल की हाईस्कूल व हाई सेकेंडरी की अंकसूची प्राप्त कर ली है। जबकि छात्र एवं छात्राओं द्वारा अपनी अंक लेने के लिए विद्यालय पहुंचते हैं तो उन्हें अंक सूची नहीं मिलती हैं। जिससे कई छात्र एवं छात्रायें परेशान बनी हुई हैं और उनमें आक्रोश देखा जा रहा हैं। उनका कहना है कि हमें अपने स्कूल के प्राचार्य से ही अंक सूची चाहिए। एक छात्र न नाम न छापने की शर्त पर बताया कि मुझे विद्यालय से प्राचार्य द्वारा दुत्कार कर भगा दिया गया कि जब वह स्कूल खुले तब तुझे मार्कशीट दे दी जाएगी।  

उल्लेखक करना होगा कि लखेश्वर एवं लार्ड लखेश्वर दोनों विद्यालयां की एक ही बिल्डिंग में नवीन खोले गऐ लार्ड लखेश्वर स्कूल की संस्था हैं। उसी के संचालक रघुवीर धाकड़ द्वारा समन्वयक संस्था क्र01 शिवपुरी के प्राचार्य द्वारा हाई स्कूल हाई सेकेंडरी की अंकसूची प्राप्त कर ली है जवकि रघुवीर धाकड़ लखेश्वर हायर सेकेंडरी स्कूल में कोई पदाधिकारी ही नहीं है। इस आशय का पत्र लखेश्वर स्कूल के संचालक घनश्याम धाकड़ ने पूर्व में ही जिला शिक्षा अधिकारी महोदय को दे दिया है, लेकिन जिला शिक्षा अधिकारी को जब इस आशय का दूसरा पत्र दिया कि मुझे अंकसूची प्राप्त नहीं हुई हैं। तो डी ई ओ साहब ने अपने पास रखकर आश्वासन दिया कि मिल जाएंगी। लेकिन समन्वयक प्राचार्य से कई बार अंकसूची मांगी जा चुकी है परंतु उनके द्वारा आज दिनांक तक अंकसूची नहीं दी गई है

इससे अधिकारियों की मानसिकता का पता चलता है कि कैसे यह लोगों को गुमराह करते हैं जब किसी  व्यक्ति का फोन आ जाए तो कोई कार्रवाई नहीं करते दुर्वव और फजीहत करने मैं अधिकारी कोई कसर नहीं छोड़ते हैं छात्रों  को परेशान करने का  कितना संदिग्ध मामला है कि लखेश्वर में पढऩे वाले छात्र विद्यालय के चक्कर लगा रहे हैं अंकसूची लार्ड लखेश्वर के संचालक द्वारा हथिया ली गई है प्राइवेट स्कूल संचालकों का खुला प्रदर्शन चल रहा है अधिकारी यह नहीं सोचते कि इन छात्रों का क्या होगा। जिन्होंने अगली कक्षाओं में प्रवेश लेना है उनकी जिंदगी का सवाल है।

लेकिन समन्वयक प्राचार्य व डी ई ओ की एवं लार्ड लखेश्वर संचालक की मिली भगत होने से आज दिनांक तक अंकसूची प्राप्त नहीं हुई है अत अंकसूची दिलाकर फर्जी बनकर अंकसूची प्राप्त करने वाले संचालक के खिलाफ बैधानिक कार्रवाई की जावे! शिक्षा विभाग में किस प्रकार से भ्रष्टाचारी होती है यह शिवपुरी जिले की जनता बहुत ही अच्छे से बता सकती है आए दिन भ्रष्टाचारी की चपेट में आ रही है।

इन लोगों की वजह से इतना इनका तांडव बना हुआ है कि किसी अधिकारी या नेता की भी हैसियत नहीं है कि कानून की मदद लेकर इन भ्रष्ट लोगों को शिवपुरी जिले से बाहर कर दिया जाए इतना जबरदस्त कितना भ्रष्टाचार फैला रखा है ऊपर तक की शिवपुरी की जनता बहुत अच्छे से बता सकती है एक बार इस पर उच्च स्तरीय निष्पक्ष पारदर्शिता के साथ एक बार जांच हो जाए तो दूध का दूध पानी का पानी उजागर हो जाएगा।

ब्लॉक शिक्षा अधिकारी भी नहीं देते ध्यान
छात्र एवं छात्राओं की इस गंभीर समस्या की ओर स्थानीय ब्लॉक शिक्षा को पूरे मामले को संज्ञान में लेकर दोषि शिक्षकों के खिलाफ वैधानिक कार्यवाही करना चाहिए साथ विद्यालय प्राचार्य को तत्काल नोटिस जारी कर छात्र एवं छात्राओं की अंक सूची उन्हें उपब्ध करा देना चाहिए जिससे उनका दूसरे विद्यालय में प्रवेश अगली कक्षा में हो सके। लेकिन ब्लॉक शिक्षा अधिकारी को इन प्राईवेट विद्यालय संचालकों से संबंध होने के कारण उनसे समय-समय पर सुविधा शुल्क उपलब्ध हो जाने पर चुप्पी साधकर बैठे रहते हैं।