Ads 720 x 90

शासकीय कार्य में बाधा उत्पन्न करने के जुर्म में आरोपियों को 1-1 वर्ष का कारावास एवं अर्थदंड की सजा | SHIVPURI NEWS

खनियाधाना। खनियाधाना के न्यायालय के माननीय न्यायाधीश जेएमएफसी ने शायकीय कार्य में बाधा उत्पन्न करने के एक मामले की सुनवाई करते हुए आरोपिया को दोषी मानते हुए 1-1 वर्ष का कारावास एवं 500—500 अर्थदंड से दंडित किया मामले में शासन की ओर से पैरवी हरी बहादुर मीणा सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी तहसील खनियाधाना जिला शिवपुरी द्वारा की गई।

घटना 07.06.2015 को शाम के 6 बजे फरियादि मुंशीलाल वनरक्षक राजेन्द्रसिंह लोधी एवम संजय सिंह गुर्जर सुरक्षा श्रमिक को साथ लेकर चिकनिया खदान पर पहुंचे तो वहां पर उसके द्वारा पत्थर की जब्ती की जा रही थी उसी समय अवैध उत्खनन कर रहे  चार व्यक्तियों छम्मा उर्फ़ कमल सिंह प्यारेलाल प्रेमलाल लल्लू उर्फ लाखन आए और कहने लगे कि पत्थर जप्त किया तो उनके हाथ पैर तोड़ देंगे पत्थर मारने लगे एवं गाली-गलौच कर जान से मारने की धमकी दी।

फरियादि व उसका स्टाफ वहां से भाग निकला पत्थर की जप्ती नहीं हो सकी आरोपी द्वारा जान से मारने की धमकी दी गई एवं शासकीय कार्य में बाधा उत्पन्न की जिस पर फरियादी द्वारा पुलिस थाना बामोरकला में घटना की रिपोर्ट की गई।

चालान माननीय न्यायालय जेएमएफसी खनियाधाना के न्यायालय में पेश किया माननीय न्यायालय ने आरोपियो को दोषी पाते हुए 1-1 वर्ष का कारावास एवं 500-500 अर्थदंड से दंडित किया।

मारपीट के मामले में न्यायालय उठने तक की सजा

नरवर। घटना दिनांक 18.03.2014 को करीब 4 बजे ग्राम ढींगवास में आरोपीगण द्वारा फरियादी नेतराम को माॅ बहन की अश्लील गाली गालोंच कर हसिया और लाठी से मारी-पीट कर उसे साधारण चोट पहुचायी एवं जान से मारने की धमकी दी फरियादी नेतराम द्वारा उक्त घटना की रिपोर्ट पुलिस थाना नरवर में की गई।

थाना नरवर ने  भादवि धारा 324, 323, 294, 506 के तहत अपराध दर्ज कर बाद विवेचना चालान माननीय न्यायालय जे.एम.एफ.सी करैरा के न्यायालय में प्रस्तुत किया। जिसका विचारण करते हुये माननीय न्यायालय  जे.एम.एफ.सी करैरा ने को आरोपीगण सेवाराम जाटव, राकेश जाटव, धारासिंह जाटव को दोषी पाते धारा 324/34 भादवि में न्यायालय उठने तक का कारावास एवं प्रत्येक को 800-800 रू जुर्माने से दंडित किया। मामले में शासन की ओर से पैरवी मुकेश पाण्डेय सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी, तहसील करैरा जिला शिवपुरी द्वारा की गई है।