Ads 720 x 90

SP सहाब शहर की युवा पीढ़़ी को स्मैक की लत से बचाओ: यशोधरा राजे सिंधिया | Shivpuri News

शिवपुरी। शिवपुरी विधायक एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने बीते रोज कलेक्ट्रेट में आयोजित एक बैठक में कहा है कि शहर में युवा पीढ़ी स्मैक के नशे की आदी होती जा रही है। शहर में स्मैक का अवैध रूप से करोबार चल रहा है। लेकिन पुलिस अवैध रूप से स्मैक का कारोबार करने वाले लोगों तक नहीं पहुंच पा रही है। जिसकी बजह से शहर की युवा पीढ़ी दिशा भ्रमित होकर नशे की लत का शिकार हो रही है। बैठक में उपस्थित एसडीओपी शिव सिंह भदौरिया के माध्यम से उक्त तथ्य को नवागंतुक पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह के संज्ञान में लाया गया।

स्मैक के नशे का शिकार हो रही युवा पीढ़ी को इससे सुरक्षित रखने के लिए शिवपुरी विधायक ने पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह को निर्देश जारी करते हुए कहा है कि शहर की युवा पीढ़ी को स्मैक के नशे की लत लगने से पूर्व ही उन्हें हर हाल में बचाना है। अन्य महानगरों की तर्ज पर शिवपुरी में भी स्मैक का गोरख धंधा बड़े स्तर पर फल फूल रहा हैं।

स्मैक के कारोबार की जानकारी पूर्व पुलिस अधीक्षक राजेश ङ्क्षहगढक़र को शहर के जागरूक नागरिकों ने दी और उन्हें कुछ स्मैक कारोबारियों के नाम तक बताए गए थे। जिस पर उन्होंने कहा कि मैं इन लोगों के खिलाफ जरूर कार्यवाही करूंगा लेकिन आज दिन तक नहीं की गई। शिवपुरी विधायक ने नवागंतुक पुलिस अधीक्षक को निर्र्देश देते हुए कहा है कि मेरी शिवपुरी को पंजाब मत बनने दो, साथ ही उन्होंने उक्त मामले को गंभीरता से लेने के निर्देश दिए हैं। उक्त मामले में सात दिवस के अंदर परिणाम मिलने की अपेक्षा की हैं।

पंजाब मत बनने दो शिवपुरी को
शिवपुरी विधायक ने कलेक्ट्रेट सभागार में गत दिवस आयोजित बैठक के दौरान प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा है कि शिवपुरी की युवा पीढ़ी महानगरों की तर्ज पर स्मैक जैसे खतरनाक नशीले पदार्थ की लत का शिकार हो रही है। जिससे उनका भविष्य अंधकार मय होना तय है उन्होंने पुलिस अधीक्षक व एसडीओपी को स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा है कि मेरी शिवपुरी को पंजाब मत बनने दो। स्मैक के अवैध कारोबार में लगे लोगों को कठोर कार्यवाही की जाए। जिससे युवा पीढ़ी को स्मैक के नशे से बचाया जा सके।

तीन माह में ही बद से बदतर हो गए हालात
कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में शिवपुरी विधायक यशोधरा राजे सिंधिया ने प्रशासनिक अधिकारियों से कहा कि मैं शिवपुरी में तीन माह से किन्हीं कारणवश नहीं आ पाई। इस दौरान प्रशासनिक अमले द्वारा मेरे न आने का जमकर लाभ उठाया तथा शहर के हालात खराब हो गए हैं। जिस पर अधिकारी व कर्मचारियों द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया गया। अधिकारी व कर्मचारियों की मनमानी के चलते शासकीय काम की गति थम सी गई है।

उन्होंने कहा है कि पुलिस कर्मचारियों द्वारा कोतवाली, फिजीकल थाना, व देहात थाने के पुलिस कर्मचारियों द्वारा थाने के समक्ष ही बैरीकेट्स लगाकर वाहन चालकों से अवैध बसूली की जाती रही है। वहीं यातायात पुलिस कर्मचारियों द्वारा तैनात माधव चौक, गुरूद्वारा चौैक, झांसी तिराहा, ग्वालियर वायपास, गुना वायपास पर यातायात को नियंत्रित करने का तो कार्य नहीं किया जाता बल्कि इसके विपरीत बाहर से आने वाले भारी वाहनों से अवैध रूप से बसूली की जाती है।