Ads 720 x 90

बर्फ डालकर सादा पानी को RO के नाम पर खपा रहे है माफिया, प्रशासन की आंखों के आगे कालाबाजारी | KOLARAS, SHIVPURI NEWS

हार्दिक गुप्ता हैप्पी, कोलारस। खबर जिले के कोलारस क्षेत्र से आ रही है। जहां गर्मी के कहर के चलते इन दिनों आरओ के नाम सादा पानी की सप्लाई की जा रही है। ऐसा नहीं है कि इसकी सूचना प्रशासन को नहीं है। अपितु इस पानी का उपयोग शासकीय कार्यालयों में भी धडल्ले से किया जा रहा है। कोलारस नगर मे एक तरफ पानी का जल स्तर लगातार गिर रहा है और पानी के सोर्स कम हो रहे हैं दूसरी ओर पेयजल संकट के चलते नगर में बोतलबंद पानी का कारोबार अचानक आसमान छूने लगा है। 

RO के नाम पर सादा पानी में बर्फ डालकर इस पानी को वाहन पर सवार कर इसे डोर-टू-डोर पहुंचाने का भी कारोबार काफी फल-फूल रहा है। इस पर नजर जिला प्रशासन से लेकर आमलोगों तक है। बावजूद इसके कारोबारी को न ही कोई रोकने वाला है और न ही कोई टोकने वाला। दरअसल, कोलारस नगर में पानी की किल्लत व शुद्ध पेयपल पीने को विवश आमलोग पानी (जार) खरीदकर पी रहे है।

लेकिन उन्हें मालूम नहीं है कि उनके घर तक पहुंचने वाला जार में शुद्ध पेजयल नहीं, बल्कि साधारण पेयजल भरकर उन्हें उनतक पहुंचा दिया जा रहा है। जिसे पीकर लोग किडनी से जुड़ी बीमारी के शिकार हो रहे हैं।

कैन पानी की खूब सप्लाई
ब्रांडेड व पैक्ड वाटर के नाम पर मिलावट का भी खेल चल रहा है। कई बिना ब्रांड की कंपनियों के पानी को ब्रांडेड के नाम पर सप्लाई किया जा रहा है। यहां तक कई जगह आरओ प्लांट लगाकर 15 लीटर के केन में पानी की सप्लाई की जा रही है। इस पानी की सप्लाई भी रोजाना करीब 500 से 700 कैन हो रहा है। यह पानी अधिकतर दुकानों, क्लीनिक, हॉस्पिटल, व अन्य जगहों पर होता है। कई जगह तो आरओ में पानी को फिल्टर भी नहीं किया जाता है और सिर्फ ठंडा पानी पिलाया जाता है। इस पानी की गर्मी के दिनों में ज्यादा डिमांड होती है। इस तरह की पानी शादी-समारोह में भी खूब होती है।

ब्रांडेड व नॉन ब्रांडेड के रेट में अंतर
जिले में बनने वाले पानी की सप्लाई होती है। नगर में भी कुछ कंपनियां हैं जो ब्रांडेड पानी बनाकर सप्लाई करती हैं। कुछ ब्रांडेड कंपनियों के पानी की मार्केट में वैल्यू कम होती है। इसकी वजह से इनके दाम में कुछ रुपयों का अंतर होता है। ब्रांडेड और नॉन ब्रांडेड के नाम पर खेल भी होता है और इस तरह के पानी की सप्लाई कम पढ़े लिखे लोगों में की जाती है।