कोलारस में बिजली गुल, 7 घण्टे से maintenance के नाम पर कटौती, थाने में नहीं हो पाई FIR

हार्दिक गुप्ता हैप्पी/कोलारस। खबर जिले के कोलारस अनुविभाग से आ रही है। जहां कोलारस कस्बे में आज हुई हल्की बारिश ने ही विद्युत विभाग की पोल खोलकर रख दी है। दोपहर 2 बजे से गई लाईट अभी तक नही आ पाई है। जिसके चलते कुछ लोग कमलनाथ सरकार को तो कुछ सिंधिया को हराने को दोष देते नजर आ रहे है। परंतु पहली ही और हल्की सी बारिश ने विद्युत विभाग की पूरी पोल खोलकर रख दी है। इस भीषण गर्मी में हुई इस कटौती ने लोगों का जीना हराम कर दिया है। हालात यह है कि लाईट नहीं होने के चलते कोलारस थाने में होने बाली आनलाईन एफआईआर भी थाने में दर्ज नहीं हो सकी।

नगर में एक ओर जहां भीषण गर्मी का दौर जारी है, जिससे लोग बेहाल हैं, वहीं दूसरी ओर बिजली कंपनी की मनमानी के चलते जमकर अघोषित विद्युत कटौती की जा रही है जिससे लोगों का जीना दूभर हो गया है। स्थिति यह है कि गुरुवार दोपहर 2 बजे से ही बिजली की आंख मिचौली शुरू हो गई है जो दिन भर से चलती रही। अधिकारियो की माने तो मैंटिनेंस के नाम पर अघोषित कटूटी रोज का सिलसिला जारी है।

दिन में लाइट की कटौती से जहां नागरिक परेशान हैं। वहीं शाम होते ही नगर में बिजली कटौती से घंटों तक अंधेरा छा जाता है। रात के समय में भी लाइट की कटौती से नागरिकों की नींद हराम हो रही हैं। गर्मी के इस मौसम में बिजली कटौती के चलते घरों एवं दुकानों के विद्युत पर आधारित उपकरण शो-पीस बने हुए हैं। नागरिकों की मानें तो अघोषित बिजली कटौती से लोग भीषण गर्मी से हलाकान हो रहे हैं। वहीं कूलर पंखे, फ्रिज व एसी भी महज शो-पीस बने हुए हैं।

इतना ही नहीं बार-बार बिजली गुल होने से नल-जल योजना भी प्रभावित हो रही है। जिसके चलते कई कॉलोनियों में पानी के लिए घंटों नल आने का लोग इंतजार करते रहते हैं। जिससे पानी का भी संकट बना हुआ है। लोगों का कहना है कि बिजली कंपनी को अघोषित कटौती बंद किए जाने की मांग की है। सबसे अहम बात इस दौरान सबसे अहम बात यह सामने आई कि बिजली कटौती से त्रस्त पब्लिक जब जिम्मेदारों को फोन लगा रही है तो वह फोन उठाना भी मुनासिब नहीं समझ रहे।