Ads 720 x 90

जंगल 3 किलोमीटर बाउंड्री चोरी, वन विभाग को पता ही नहीं। VIDEO

बदरवास। खबर जिले के जंगलो में से आ रही हैं कि जहां वन विभाग की 3 किलो मीटर की पत्थर की बाउंड्रीवाल चोरी होने की खबर आ रही हैं। इसमे सबसे बडी बात यह है कि वन विभाग के अधिकारियो को इसकी जानकारी नही हैं। स्थानीय लोगो का कहना है कि उक्त चोरी वन विभाग के कर्ताधर्ताओ ने ही इस बाउंड्रीवाल को खडे होकर भरवाया हैं।

जानकारी के अनुसार जिले की बदरवास रेंज क्षेत्र में स्थित राछि बीट के अतंर्गत आने वाले बडेरा गांव के पास वन विभाग में प्लांटनेशन कराया गया था। यह प्लांटनेशन सन 2009 में कराया था। प्लांटनेशन  में लगाए गए पौधो की सुरक्षा के लिए वन विभाग ने पत्थर की बाउंड्रीवाल कराई गई थी।

विभाग ने इस जगह चौकीदार नही रखा था। इस जगह की सुरक्षा की जिम्मेदारी डिप्टीरेंजर और रेंजर की थी। बताया जा रहा हैं कि इस प्लांटनेशन की सुरक्षा के लिए बनाई गई लगभग 3 किलो मीटर की पत्थरो को अज्ञात बदमाश ट्रेक्टरो में भर ले गए।

इस कारण वन विभाग के द्धारा लगाए गए पेड भी अब मरने लगे हैं। इस मामले में आमजनो ने बताया कि कई बार इस बाउंड्रीवाल चोरी की शिकायत रेंज स्तर पर की हैं लेकिन आज तक रेंजर इसे देखने नही आए हैं। वही कुछ लोगो का कहना था कि विभाग के रेंज आफिस के ही कर्मचारियो की इसमे मिली भगत है उन्होने ही पत्थर बेचे हैं। इसी कारण आज तक रेंज आफिस से चोरी काण्ड को कोई देखने नही आया है।

सूत्रो का कहना हैं कि इस काण्ड में जो प्राईवेट लोग मिले है वह इस विभाग के प्लांटनेशन को उजाड कर खेती करने की योजना बना रहे हैं। वही इस मामले में रेजर महेश शर्मा से बातचीत की गई तो चौकाने वाली बाते समाने आई। रेंजर साहब का कहना था कि आपके द्धारा मामला संज्ञान में लाया गया हैं मैं इसे दिखवाता हू,मै काफी दिनो से वहा नही गया हू। और आप किस प्लाटनेशन की बात कर रहे है जाकर देखना पडेगा।

रेंजर साहब की इन बातो से यह ज्ञात होता है कि रेंजर साहब महिनो से अपनी बीट में चक्कर लगाने नही गए। उनकी रााछि बीट में कौनसा प्लाटनेशन है उन्हैं पता ही नही हैं। इस मामले में डिप्टी रेंजर राजेन्द्र अवस्थी का कहना हैं कि मैने अभी अप्रैल में चार्ज लिया हैं मेरे पर तैुदू पत्ता का भी चार्ज है मुझे इस प्लाटनेशन और इसके पत्थरो की चोरी की मामले में कोई जानकारी नही हैं और में इस मामले मे कुछ नही कह सकता।

इनका कहना हैं
आपके द्धारा बडा ही गंभीर मामला बताया गया हैं इस मामले में चोरो पर तो मामला दर्ज करावाया जाऐगा। साथ ही विभागीय लापरवाही बरतने वाले विभाग के अधिकारियो और कर्मचारियो पर भी कार्रवाई की जाऐगी।
लंबित भारती,डीएफओ शिवपुरी।