ये है इंडियन क्रिकेट टीम का भविष्य, ​शिवपुरी के कृष का साउथ अफ्रिका की किक्रेट ​लीग में चयन | Shivpuri News

निशि भार्गव/शिवपुरी। हमारे देश में किक्रेट एक खेल नही बल्कि एक धर्म है ओर एक उत्सव हैं। ओर भारत में इसके भगवान हैं सर सचिन तेदुलकर। किक्रेट के धर्म में शिवपुरी का एक 14 वर्षीय बालक भी इसमें योगदान देने जा रहा है। शिवपुरी जिले को नही पूरे मप्र को हर्षित होने वाली खबर आ रही हैं कि शिवपुरी के कृष शिवहरे के उच्च  प्रर्दशन की बदौलत उसका चयन साउथ अफ्रिका की किक्रेट लीग में हुआ है कृष अब अपने मैच खेलने साउथ अफ्रिका रवाना हो रहे है।

प्रेस से बातचीत में करते हुए कृष शिवहरे ने बताया कि मैं जब 8 क्लास में था जब से ही मुझे किक्रेट खेलना शुरू कर दिया,मै अपने कोच सर कपिल यादव जैसा खेलना चाहता था,मेरे पापा ने मुझे सारी सुविधाए दी जिससे मै किक्रेट खेल सकू,मुझे कभी खेलने से मना नही किया। कपिल सर ने मुझे जो सीखाया में वैसे ही सीखता गया। उनकी हर बात का मैने पालन किया और अपने खेल पर मेहनत की। मुझे खुशी है कि मेरा सिलेक्शन साउथ अफ्रिका की किक्रेट लीग के लिए हुआ है।

कृष के पिता रितेश शिवहरे ने कहा कि कृष के कोच कपिल ने कहा कि इसमे कुदरती टैलेंट हैं,इसको खेलने दो,अगर भगवान चाहेगा तो ये बहुत आगे जाऐगा। कृष के कोच की बात सत्य सिद्ध् हुई ओर उसका सिलेक्शन इतने बडे स्तर पर हुआ। अपने बेटे केा विदा करते हुए रितेश शिवहरे की आंखे नम हो गई थी। आंखो में आशु आने का कारण पुछा गया तो कहा कि यह मेरे बेटे की सफलता के आशू हैं। भगवान करे वह ऐसे ही आगे बडे।

कृष शहर के प्रसिद्ध् स्कुल किडस गार्डन का 10वीं क्लास का छात्र है। और आज ही वह साउथ अफ्रिका के लिए रवाना हो गया। मुम्बई से पूरे भारत से चयनित हुए सभी बच्चो के साथ वह साउथ अफ्रिका जाऐगा।  

कोच की मां ने लगा दी थी किक्रेट किट में आग

कृष को इस मुकाम पर पहुचाने वाले उनके गुरू कपिल यादव शिवपुरी मेे किक्रेट में एक जाना पहचाना नाम हैं,कपिल की मां ने बातचीत में बताया कि कपिल के पिता का देंहात जब हो गया था जब कपिल बहुत छोटा था,मै चाहती थी कि यह पढ लिखकर सरकारी नौकरी करे,लेकिन के हाथ मे बेट बॉल होता था।

केवल किक्रेट ही इसको दिखता था,मैने एक बार इसके किक्रेट की किट मे आग लगा दी ओर इसे डंडे से भी मारा था,लेकिन इसने किक्रेट नही छोडा। आज मेरे बेटे की इस सफलता पर में खुश हू,मै भगवान से कृष और अपने बेटे की सफलता के लिए प्रार्थना करती हूं।