Ads 720 x 90

प्रिय श्रीमंत, क्या किसी की सक्सेस स्टोरी में आपका भी नाम आता है

ललित मुदगल। मध्यप्रदेश की बेटी ने भावना डेहरिया उम्र 27 साल ने एवरेस्ट फतह कर लिया। मप्र की आदिवासी बेटी भावना डेहरिया का नाम इतिहास में दर्ज हो गया क्योंकि वो प्रदेश की पहली बेटी है जो एवरेस्ट की चोटी तक पहुंची। भावना ने नीचे आते ही छिंदवाड़ा के पूर्व सांसद कमलनाथ को धन्यवाद दिया। भावना ने कहा 'मैं मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ को धन्यवाद देती हूं, जिन्होंने मुझे माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने के लिए 27.50 लाख की वित्तीय सहायता दी। भावना ने बताया, ‘‘यदि कमलनाथ ने मुझे वित्तीय सहायता मुहैया न कराई होती, तो मैं माउंट एवरेस्ट फतह करने का अपना सपना पूरा नहीं कर सकती थी।’

भावना के इस बयान को सुनकर अनायास ही राजमाता विजयाराजे सिंधिया और कैलाशवासी माधवराव सिंधिया जी की याद आ गई। शिवपुरी में हजारों सफलता की कहानियां हैं जिनमें मेरे प्रिय माधौ महाराज का नाम आता है। सैंकड़ों कहानियों में राजमाता और माधवराव का नाम भी आता है, परंतु क्या किसी सामान्य प्रतिभाशाली व्यक्ति की सफलता की कहानी है, जिसमें ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम आता हो।