सिंधिया के चलते मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार खतरे में, मायावती की खुली धमकी | SHIVPURI NEWS

सतेन्द्र उपाध्याय, शिवपुरी। गुना शिवपुरी लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस के प्रत्याशी और क्षेत्रीय सांसद ज्योतिरादित्य सिधिंया के चलते अब मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार खतरे में दिखाई दे रही है। बीते रोज गुना शिवपुरी लोकसभा क्षेत्र से बसपा प्रत्याशी का कांग्रेस में शामिल हो जाने के बाद आज बसपा सुप्रीमों मायाबती ने अपने अधिकारिक ट्वीटर हैडिल पर ट्वीट करते हुए मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार को खुली धमकी दी है। गुना सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया से नाराज बसपा चीफ मायावती ने सीएम कमलनाथ को सरकार गिराने की धमकी दी है। बता दें कि कल बीएसपी प्रत्याशी लोकेंद्र सिंह ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को समर्थन देने का ऐलान करते हुए कांग्रेस पार्टी ज्वाइन कर ली थी। इससे पहले मप्र में करीब 4 बसपा प्रत्याशी पार्टी छोड़कर कांग्रेस ज्वाइन कर चुके हैं। 

बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपने आधिकारिक हेंडल @Mayawati पर लिखा है कि 'सरकारीमशीनरी के दुरुपयोग के मामले में कांग्रेस भी बीजेपी से कम नहीं। एमपी के गुना लोकसभा सीट पर बीएसपी उम्मीदवार को कांग्रेस ने डरा-धमकाकर जबर्दस्ती बैठा दिया है किन्तु बीएसपी अपने सिम्बल पर ही लड़कर इसका जवाब देगी व अब कांग्रेस सरकार को समर्थन जारी रखने पर भी पुनर्विचार करेगी।

इससे पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने आधिकारिक हेंडल @JM_Scindia से बताया था कि गुना संसदीय क्षेत्र से बहुजन समाज पार्टी के युवा प्रत्याशी श्री लोकेंद्र सिंह धाकड़ जी ने आज कांग्रेस में शामिल होकर अपना समर्थन हमे दे दिया है - कांग्रेस परिवार में आपका स्वागत है।
मुझे पूर्ण विश्वास है की आपके आने से पार्टी और मजबूत होगी।

यहां बता दे कि मध्यप्रदेश में इन दिनों किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला था। कांग्रेस को 116 सीट में से 114 सीटें मिली थी। जिसपर निर्दलीय प्रत्याशीयों सहित बसपा और सपा ने अपना समर्थन कांग्रेस को दे दिया था। कांग्रेस को समर्थन देने के बाद मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार बनी। इसका पीछा करते हुए मध्यप्रदेश में भाजपा को 109 सीटें मिली थी। जबकि बसपा और सपा को 2 2 सीटें मिली। मध्यप्रदेश में निर्दलीय 3 विधायक बने। 

परंतु मायावती के ट्वीट के बाद अंदेशा लगाया जा रहा है कि अब बसपा अपना समर्थन मध्यप्रदेश सरकार से बापिस ले लेगी। अब यूपी में महागंठबंधन के साथ चुनाव लग रही बसपा और सपा अगर मध्यप्रदेश में अपना समर्थन बापिस लेकर भाजपा को अपना समर्थन देती है तो भाजपा की सीटों की संख्या बढकर 113 पर पहुंच जाएगी। हांलाकि यह भाजपा भी फिर सरकार नहीं बना पाएगी। परंतु अगर यह हालात रही तो राजनीति के चाणक्य माने जाने बाले अमित शाह मध्यप्रदेश की राजनीति में बढी उठापढक करते हुए सरकार गिरा सकते है।