विनोद जैन: जेल से अस्पताल शिफ्ट, बीमारी पर आपत्ति दर्ज | SHIVPURI NEWS

शिवपुरी। शहर के कई व्यापारियों से करोड़ों की धोखाधड़ी करके फरार हुआ विनोद जैन 2 साल बाद गिरफ्तार कर लिया गया। उसने जमानत के लिए हाईकोर्ट तक कोशिश की लेकिन सफल नहीं हुआ। अब खबर आ रही है कि जेल में बीपी बढ़ जाने के कारण उसे अस्पताल शिफ्ट किया गया है। फरियादी रजनी गोयल ने आपत्ति दर्ज कराई है। उनका कहना है कि अस्पताल में आराम के दिन काटने और लोगों से मिलने के लिए उसने बीमारी का बहाना बनाया है। 

जैसा कि विदित है कि कोर्ट रोड निवासी व्यवसाई विनोद जैन शहर के लोगो को करोड़ों रूपए लेकर फरार हो गए थे। पुलिस ने विनोद जैन की गिरफ्तारी पर 3 हजार का ईनाम भी घोषित किया था। लगभग 2 साल तक चकमा देने के बाद कोतवाली पुलिस ने 1 अप्रेल को गिरफ्तार कर न्यायालय मे पेश किया जहां न्यायालय ने उसको जेल भेज दिया।

बताया जा रहा है कि विनोद जैन लगातार अपनी जमानत का प्रयास कर रहे हैं। ग्वालियर हाई कोर्ट ने भी विनोद जैन की जमानत याचिका को अस्वीकार कर दिया था। आरोपी विनोद जैन के स्वास्थय को लेकर इस मामले की फरियादी रजनी गोयल ने अपत्ति दर्ज कराते हुए न्यायालय को अपने वकील के माध्यम से एक आवेदन दिया है। 

इस आवेदन के अनुसार आरोपी विनोद जैन लाखो रूपयो की धोखाधडी का गबन किया हैं,तथा उसने बीमारी का झूठा बहाना बनाकर जेल शिवपुरी से जिला चिकित्सालय शिवपुरी में स्वय को भर्ती कराकर ऐश आराम की जिंदगी गुजारने का षंडयत्र किया है। 

अभियुक्त विनोद जैन को कोई बीमारी नही हैं। आरोपी प्रभावशाली व्यक्ति हैं, ऐसी स्थिती में उसके द्धारा गलत रिर्पोट भिजवाये जानेे की संभावना से भी इंकार नही किया जा सकता है। इस कारण आरोपी विनोद जैन की मेडिकल रिर्पोट की जांच की जाए।