SHIVPURI NEWS - मॉ बोली बेटी का बलात्कार हुआ है, बेटी ने मां के साथ जाने से मना कर दिया, पढ़िए खबर

Bhopal Samachar

शिवपुरी। मामला शिवपुरी जिले के सुभाषपुरा थाना सीमा से अपहृत हुए एक 16 साल की नाबालिग से जुडा है,नाबालिग अपने एक्स मगेतर के साथ शादी करने के लिए उसके साथ घर से फरार हो गई थी। पुलिस ने इस प्रेमी जोडे को बरामद कर लिया ओर नाबालिग को सीडब्ल्यूसी भेज दिया था। वहीं इस मामले में अब एक नया मोड़ सामने आया है नाबालिग की मां ने आरोप लगाया है कि बेटी का बलात्कार हुआ है पुलिस ने हमसे बात नही करने दी है और सीडब्ल्यूसी भेज दिया है,इस मामले की शिकायत एसपी शिवपुरी से की है,बताया जा रहा है कि नाबालिग अपनी मां के साथ जाना नहीं चाह रही थी इस कारण उसे वन स्टॉप सेंटर भेज दिया है।

जानकारी के अनुसार ग्राम खाँदी में रहने वाली एक नाबालिग की सगाई परिजनों ने थाना क्षेत्र में आने वाले दौरार गावं में एक नाबालिग लडके ने कर दी थी। बताया जा रहा है कि सगाई होने के बाद दोनो की मोबाइल पर बात होने लगी थी,लेकिन किसी बात पर दोनों परिवारों में विवाद हो गया और यह सगाई टूट गई,लेकिन सगाई होने के बाद भी दोनो की बाते चलती थी और आपस में प्यार हो गया ओर दोनों ने आपस में शादी करने का वचन आपस में दे दिया।

बताया जा रहा है कि नाबालिग प्रेमी जोड़े ने अपने परिजनों से शादी करने को भी कहा था लेकिन दोनों परिवार इस बात पर राजी नहीं हुए इस कारण यह प्रेमी जोड़ा 2 पूर्व अपने घर से फरार हो गया। बताया जा रहा है कि यह प्रेमी जोडा घर से भागकर ग्वालियर जा पहुंचा लेकिन इनको किसी तरह यह सूचना मिल गई कि घर वालो ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कर दिया है।

इस कारण यह ग्वालियर से वापस आ गए और अपनी किसी रिश्तेदार के यहां शरण लेने जा रहे थे लेकिन पुलिस ने इनकी लोकेशन ट्रेस कर ली,बताया जाता है कि यह नाबालिग जोडा अपने रिश्तेदार के यहां जाने के लिए बस से गुरावल गांव के शनिदेव के मंदिर पर उतरे जैसे ही सुभाषपुरा पुलिस ने दबोच लिया।

आज क्या हुआ
आज नाबालिग की मां ने एसपी शिवपुरी को एक शिकायती आवेदन दिया है इस आवेदन के अनुसार  उसकी नाबालिग बेटी उम्र 16 साल की सगाई गांव के ही एक 17 साल के युवक से कर दी थी। सगाई के बाद दोनों के बची बातचीत होने लगी थी। जिसके चलते उसकी बेटी को नाबालिग किशोर अपने साथ बहला फुसलाकर भगाकर ले गया।

पीडिता की मां ने पुलिस अधीक्षक को शिकायत करते हुए बताया है कि उसकी बेटी को पुलिस ने दस्तयाब कर अपने साथ थाने लेकर पहुंची। जहां पीडिता ने पुलिस को बताया था कि उसके साथ आरोपी ने रेप किया था। परंतु पुलिस ने किशोरी की माता पिता से ज्यादा बात नहीं करने दी और किशोरी का मेडिकल न कराते हुए उसे सीधा वन स्टॉप सेंटर भेज दिया। इस मामले में पीडिता की मां ने पुलिस अधीक्षक से कार्यवाही की मांग करते हुए बेटी के फिर से बयान दर्ज कराने की मांग की है।

बेटी ने मां के साथ जाने से मना कर दिया
इस मामले में सीडब्ल्यूसी अध्यक्ष डॉ सुषमा पांडेय का कहना है कि नाबालिग ने अपने परिजनों के साथ जाने से मना कर दिया इस कारण उसे वन स्टॉप सेंटर भेजा गया है। उसके साथ क्या हुआ है कि अभी नाबालिग की काउंसलिंग नहीं की है,इस कारण अभी कुछ नहीं कह सकते है,काउसलिग मे नाबालिग के क्या बयान होते है उसके बाद ही इस मामले में कुछ कह सकते है। 
G-W2F7VGPV5M