SHIVPURI NEWS - मेडिकल कॉलेज में इंटर्नशिप करने के लिए डॉक्टरों की पहली खेप तैयार

Bhopal Samachar

शिवपुरी। श्रीमंत राजमाता विजयाराजे सिंधिया चिकित्सा महाविद्यालय में अध्ययनरत एम.बी.बी.एस.के फाइनल वर्ष का परीक्षा परिणाम म.प्र. आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय, जबलपुर द्वारा 27 मार्च को जारी हुआ जिसमें इस बैच में 98 छात्र थे। परिणाम घोषित होने के बाद मेडिकल कॉलेज से डॉक्टर की पहली खेप इंटर्नशिप के लिए तैयार है। एमबीबीएस के फाइनल बैच के छात्र छात्राओं ने उत्तीर्ण कर शिवपुरी सहित मध्यप्रदेश में मेडिकल कॉलेज का नाम रोशन किया।

एमबीबीएस का फाइनल का परीक्षा परिणाम आते ही छात्र- छात्राएं खुशी से झूम उठे। परिणाम आने के बाद मेडिकल कालेज के प्रथम बैच के उत्तीर्ण छात्र छात्राएं अब एक वर्ष का इंटर्नशिप यही से करेंगे। इंटर्नशिप पूरा होने के बाद यह बच्चे पीजी की तैयारी कर आगे का भविष्य तय करेंगे।

पी आर ओ डॉक्टर राजेश अहिरवार ने बताया कि अधिष्ठाता डॉ के. बी. वर्मा के कुशल नेतृत्व व प्रयास से निरंतर शिक्षा व्यवस्था को मजबूत करते हुए स्वास्थ्य सेवाओं की ओर बढ़ रहा है। प्रथम वर्ष के उत्तीर्ण छात्र- छात्राएं यहीं से एक वर्ष का इंटर्नशिप करेंगे। प्रथम बैच के एमबीबीएस छात्र छात्राओं का सोमवार से इंटर्नशिप शुरू कराया गया है।

इस दौरान अधिष्ठाता डॉक्टर के.बी. वर्मा ने एमबीबीएस के उत्तीर्ण छात्र छात्राओं को शुभकामनाएं देते हुए एक डॉक्टर के कर्तव्य का पाठ पढाते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है। और कहा कि इंटर्नशिप के दौरान आपकी अग्नि परीक्षा शुरू हो चुकी है आपको पूरी ईमानदारी और कर्तव्यनिष्ठा के साथ अपने जीवन की शुरुआत करनी है।

अस्पताल अधीक्षक डॉक्टर आशुतोष चौऋषि ने कहा कि इंटर्नशिप समय के दौरान, मेडिकल छात्रों को उन विभागों की विस्तृत समझ रखने और ड्यूटी में शामिल होने से पहले नैदानिक अनुभव इकट्ठा करने के लिए विभिन्न विभागों में तैनात किया जाता है। एक बार जब मेडिकल छात्र- छात्रा अपना सीआरआरआई पूरा कर लेते हैं, तो उन्हें भारत में अभ्यास करने के लिए एक स्थायी पंजीकरण प्रमाणपत्र जारी किया जाता है। सीआरआरआई स्नातकोत्तर और आगे की पढ़ाई के लिए एक महत्वपूर्ण पात्रता मानदंड है।

यह विभाग हो रहे संचालित

रजिस्ट्रार डॉक्टर उर्वशी मारवाह ने जानकारी देते हुए बताया कि एनाटॉमी, फिजियोलॉजी ,बायोकेमिस्ट्री, फार्मोकोलॉजी, पैथोलॉजी, एफएमटी, पीएसएम, माइक्रोबायोलॉजी, ईएनटी, आप्थाल्मालॉजी, जनरल सर्जरी, जनरल मेडिसिन, गाइनेकोलॉजी , पीडियाट्रिक्स, ऑर्थो, साइकाइट्रिक, पीएमआर, रेडियोलॉजी, डर्मेटोलॉजी, एनेस्थीसिया, ऑंकोलॉजी, डेंटिस्ट, इमरजेंसी मेडिसिन विभाग सुचारु रुप से संचालित है।
G-W2F7VGPV5M