SHIVPURI NEWS - किसान की करंट से मौत, खंभे पर चढ़कर LT लाइन पर काम कर रहे मजदूर का लगा झटका

Bhopal Samachar
कोलारस। शिवपुरी जिले के कोलारस अनुविभाग के तेंदुआ थाना सीमा क्षेत्र में आने वाले हिरपुर उनाई गांव में खेत पर मवेशियों को पानी पिलाने गए 45 साल के किसान की मौत करंट लगने हो गई। जिस वक्त किसान को करंट लगा उस वक्त खेत पर कोई नहीं था। सूचना के बाद परिजन किसान को कोलारस के स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंचे थे। जहां डॉक्टर ने किसान को मृत घोषित कर दिया।

जानकारी के मुताबिक़ आज रविवार की दोपहर 3 बजे किसान अमोल सिंह धाकड़ पुत्र रामचरण धाकड़ अपने मवेशियों को पानी पिलाने खेत पर लगे बोरवेल पर पहुंचा था। जहां वह बोरवेल को चालू या बंद करने के दौरान बिजली की चपेट में आ गया। जिससे उसकी मौत हो गई। कुछ देर बाद अमोल के परिजन खेत पर पहुंचे थे।

जहां अमोल बोरवेल के पास डला मिला था। उसके हाथ में करंट से झुलसे थे। परिजन अमोल को लेकर कोलारस के स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे थे। जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। तेंदुआ थाना पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पोस्टमार्टम कराया है।

बिजली का काम करते हुए मजदूर का लगा करंट


शिवपुरी जिले के करैरा कस्बे में बिजली विभाग के ठेकेदार की लापरवाही की बदौलत एक मजदूर की जान आफत में पढ़ गई। लापरवाही का एक वीडियो भी सामने आया है जहां एक बिजली के खंभे पर बिना सेफ्टिकिट चढ़ा मजदूर संभवता बिजली का करंट लगने से खंभे पर ही लटक कर रह गया। काफी देर तक मजदूर खंभे पर ही लटका रहा। इसके बाद बिजली के ठेकेदार और मौके पर मौजूद लोगों ने मजदूर को नीचे उतारा। इसके बाद मजदूर को ठेकेदार अपने साथ उपचार के लिए अस्पताल ले गया। इस घटना जुड़े कुछ वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो रहे हैं।


जानकारी के मुताबिक करेरा कस्बे के पुलिस सहायता केंद्र के पास बिजली विभाग के द्वारा केबलीकरण का कार्य BTL कंपनी के बिजली ठेकेदार के द्वारा कराया जा रहा था। इसी कार्य को करने के लिए ठेकेदार के द्वारा एक मजदूर को खंभे पर चढ़ाया गया था। बताया गया है कि जिस वक्त मजदूर खंभे पर चढ़ा था उस वक्त 33 सहित 11 केवी की बिजली लाइन बंद थी। इसके बावजूद मजदूर को बिजली के करंट का झटका लग गया। जिससे वह खंभे पर ही बेहोश होकर लटक गया था।

इस घटना में ठेकेदार की लापरवाही सामने आई है जहां मजदूर को ठेकेदार द्वारा बिना सेफ्टी किट के ही बिजली के खंभे पर चढ़ाया गया था। यहां तक मजदूर को हेलमेट भी नहीं पहनाया गया था। ठेकेदार का पक्ष जानने के लिए भास्कर संवाददाता ने उन्हें फोन किया लेकिन कॉल रिसीव नहीं किया। करंट लगने से खंभे पर लटके मजदूर का नाम अमलेश कुमार बताया गया है जो बिहार से मजदूरी करने आया है।

इस मामले करैरा बिजली विभाग के जेई जगदीश मोहन श्रीवास्तव का कहना है कि जिस बिजली के खंभे पर LT लाइन बदलने के कार्य कर रहा था उस वक्त 33 और 11 केवी की लाइन बंद दी। मजदूर को कार्य करने के दौरान करंट नहीं लगा है। संभवत: मजदूर ऊंचाई से डर गया या फिर उस तक किसी इन्वर्टर की आर्थिक पहुंच गई होगी। जिससे वह घबराकर बेहोश हो गया था। मजदूर पूरी तरीके से सुरक्षित है।
G-W2F7VGPV5M