SHIVPURI NEWS - शहर के मुक्तिधाम पर जल गई 800 क्विंटल लकडी की होली,बिल्डिंग तक छतिग्रस्त

Bhopal Samachar

शिवपुरी। शिवपुरी शहर के मुक्तिधाम पर स्थित लकडी की टाल में बीती रात आग लग जाने के कारण 800 क्विंटल लकड़ी जलकर राख हो गई,आगजनी घटना की जानकारी रात की लग चुकी थी लेकिन इस आगजनी को गंभीरता से नहीं लिया गया,इस कारण आग ने टाल में रखी लकड़ियों पर कब्जा कर लिया जिससे वह जलकर पूरी तरह राख हो गई,वही इस आग से मुक्तिधाम की बिल्डिंग का एक हिस्सा भी छतिग्रस्त हो गया।

जानकारी के अनुसार होलिका दहन के एक रात पूर्व शिवपुरी शहर के मुक्तिधाम पर लकडी की टाल में आग लग गई। इस अग्निकांड में 800 क्विंटल लकड़ी जल जाने की खबर मिल रही है वही साथ में बिल्डिंग की छत पर रखी 10 ट्रॉली कांस सहित सैकड़ों गोद के पत्ते जल गए। आग की सूचना सुबह मिली,मौके पर पहुंची फायर बिग्रेड को सिर्फ सुलगती हुई लकड़ियां मिली थी,मात्र 3 फायर बिग्रेड पानी से इस आग पर काबू पा लिया गया। इस आगजनी की घटना में मुक्तिधाम की बिल्डिंग छतिग्रस्त होन की खबर है,जब बिल्डिंग इस आग की तपन से ठंडी हो जाएगी उसके बाद ही नुकसान का आकलन हो सकता है।

बताया जा रहा है कि शनिवार की रात 11 बजे एक यादव परिवार ने यहां अंतिम संस्कार किया है उसके बाद ही यह आग लगी है। आग कैसे लगी है उसका कोर्ठ ठोस कारण अभी नहीं मिला है लेकिन अनुमान लगाया जा रहा है कि मुक्तिधाम की टाल के कैंपस में बाउंडीवॉल् के पास गोद के कट्टे रखे है वहां किसी नशेड़ी ने गांजे का नशा किया हो वहां से यह आग पूरे कैंपस में फैली है।

मुक्ति धाम में कार्यरत सेवाभावी संस्था मानवता सेवा समिति के सदस्य अजय बंसल ने बताया कि उन्हें सुबह 8 बजे आगजनी की सूचना मिली थी। मौके पर आकर देखा था लकड़ियों में जबरदस्त आग भड़की हुई थी। जब में पहुचा था जब नगर पालिका की 2 फायर बिग्रेड मौके पर आग बुझा रही थी टोटल तीन फायर बिग्रेड पानी इस आग का बुझाने में लगा था। आगजनी की खबर सुबह 8 बजे मुझे नगर पालिका के कर्मचारी ने दी थी। इस आगजनी में लाखों का नुकसान हुआ हैं।

रात भर सुलगती रही आग किसी को जानकारी नहीं
इस मामले को लेकर कई बड़े सवाल खडे हो रहे। यह आग रात 12 बजे के बाद लगी है,जब 800 क्विंटल लकड़ी जलकर राख हुई है तो रात भर आग की उंची उंची लपेटे और धुंआ भी उठा होगा,देहात थाने की सीमा का यह वह एरिया जो काफी संवेदनशील है इस क्षेत्र में अक्सर पुलिस गश्त करती है,लेकिन इस घटना से यह क्लीयर है कि आज रात मुक्तिधाम क्षेत्र में पुलिस ने गश्त नही की। वही मानवता संस्था के एक सदस्य का कहना है कि कई बार नगर पालिका शिवपुरी से चौकीदार की मांग की है लेकिन नगर पालिका के अधिकारियों ने चौकीदार उपलब्ध नहीं कराया है अधिकारियों और नगर पालिका के नेताओं ने नगर पालिका के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को अपने घर पर बंधक बना कर रखा है,इसलिए मुक्तिधाम के लिए रात की चौकीदारी के लिए चौकीदार नही मिला है।

मानवता का कर्मचारी की 6 बजे आ जाता है
मानवता संस्था के सदस्य अजय बसंल ने बताया कि हमारी संस्था का जो कर्मचारी है वह शाम 6 बजे मुक्तिधाम से वापस आ जाता है। इसके बाद किसी को अंतिम संस्कार करना होता है वह कल्याणी धर्मशाला में आकर पर्ची कटवाता है,हमने रात की व्यवस्था के लिए मुक्तिधाम में बने छोटे छोटे कमरों में चार चार क्विंटल लडकी तुला कर रखी है,रात वाले को हम किसी एक कमरे की चाबी कल्याणी धर्मशाला की दे देते है वह उसे छोटे कमरे से 4 क्विंटल लडकी उठा लेता है यह प्रक्रिया सालों से निरंतर जारी है।
G-W2F7VGPV5M