SHIVPURI NEWS - इनसाइड स्टोरी: समलैंगिक था मृतक, 8 साल से ममेरे भाई से संबंध, प्राइवेट पार्ट पर मिले दांत के निशान

Bhopal Samachar
शिवपुरी। शिवपुरी जिले के दिनारा थाना सीमा में शनिवार की सुबह एक युवक की लाश मिली थी,देर शाम तक पुलिस ने हत्या करने वाले युवक को गिरफ्तार कर लिया था। युवक की हत्या गोली मारकर की थी,लेकिन इस हत्या के पीछे के कारण समाज में फैली गंदगी के कारण हुई है,बताया जा रहा है कि मृतक समलैंगिक था,समलैंगिकता के कारण ही युवक को अपनी जान गंवानी पड़ी,हत्या करने वाला युवक पिछले 8 साल से परेशान था और इसी परेशान को खत्म करने के लिए उसने युवक में गोली मारकर हत्या कर दी है।

शुक्रवार की रात से गायब संतोष सुबह मरा हुआ मिला

दिनारा थाना सीमा के बँसोरा गांव के रहने वाला संतोष पुत्र दयाराम पाल उम्र 25 साल शुक्रवार 23 फरवरी की शाम खाना खाकर अपने मोबाइल पर बातचीत करते हुए घर से निकला था,लेकिन शुक्रवार की रात वह अपने घर लौटकर नहीं आया था। शनिवार 24 फरवरी की सुबह परिजनों को सूचना मिली की संतोष की लाश गांव के ही नहर किनारे मिली है,संतोष के सिर में कान के पास एक ऐसा निशान था कि जैसे कोई नुकीली चीज मारी है,जिससे उसकी मौत हो गई ,मौके पर पहुंची दिनारा पुलिस ने क्राइम सीन को समझकर लश को पीएम के लिए भेज दिया था।

परिजनों ने कर दिया चक्का जाम,उधर संदेही गिरफ्तार

शनिवार की दोपहर के समय परिजनों ने युवक की हत्या को लेकर चक्का जाम कर दिया था। यह चक्का जाम लगभग 1 घंटे तक यह चक्का जाम चला,परिजन कई नामों को लेकर हत्या का आरोप लगाने लगे थे। दिनारा थाना प्रभारी संतोष भार्गव ने मृतक युवक की हत्या के मोबाइल के अंतिम कॉल पर जिस पर लगभग 20 मिनट बात चली उसे संदेही मानकर गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने संदेह के आधार पर मृतक युवक के ममेरे भाई मनी पाल को उठा लिया और पूछताछ शुरू कर दी। जब परिजनों को यह ज्ञात हुआ कि युवक की हत्या के मामले में जिस को आरोपी बना रही है वह मृतक का भाई है,इस सुनकर परिजन फिर भड़क गए और पुलिस पर कई तरह के आरोप लगाने लगे,लेकिन पुलिस को उधर हत्या करने वाला हथियार और हत्या करने के ठोस कारण मिल चुके थे।

पांच घंटे चला पीएम,सिर में फस कर रह गई थी गोली

बासोरकलां में हुई संतोष की मौत के बाद उसका पीएम करैरा कराया गया था। संतोष की डेड बॉडी को शनिवार की दोपहर एक बजे लाया गया था,डॉक्टरों ने उसके पीएम करने में लगभग 5 घंटे लगे थे,बताया जा रहा है कि संतोष के सिर में कान के पास जिस नुकिली चीज का घाव दिख रहा था वह गोली का निशान निकला,कट्टे से फायर की गई गोली आर पार ना होते हुए उसके सिर में धस गई थी जिसे निकालने के लिए डॉक्टरों को 5 घंटे का समय लगा था। देर शाम को मृतक युवक संतोष की बॉडी का पीएम कंप्लीट हुआ और रात 8 बजे उसका अंतिम संस्कार किया गया था।

गोलीमार खेत पर सोने चला गया था मनीराम पाल

संतोष पाल के हत्या उसके ममेरे भाई 19 साल के मनीराम पाल ने गोली मारकर की थी। पुलिस ने कट्टे को जब्त कर लिया था। संतोष को रात में गोली मारकर मनीराम खेत पर सोने चला गया था। पुलिस ने जब मनीराम को गिरफ्तार किया था जब वह खेत पर ही था और उसने खेत पर हत्या में उपयोग लाए हुए कट्टे को जब्त कर लिया था।

परिजनों की मौत के बाद

करैरा थाना क्षेत्र के चंद्रपुरा के रहने मनीराम पाल के माता पिता की मौत के बाद मनीराम अपने फूफा के घर ही रहने लगा था। इसके बाद संतोष ओर मनीराम में गहरे दोस्ती थी दोनो ही साथ साथ रहते थे। बचपन का दौर साथ में गुजारने के बाद जवानी के दौर में प्रवेश किया था। इसी दौरान फूफा के यहां रह रहे ममेरे और फुफेरे भाई में समलैंगिक संवंध बनाना शुरू हो गए थे। यह सिलसिला करीब सात से आठ साल चलता रहा। संतोष अपने ममेरे भाई मनीराम से एक बार में ही दो बार समलैंगिक संबंध बनाने की जिद करता था। इस कारण मनीराम संतोष से परेशान था।

बात नहीं करने पर फुफेरा भाई धमकी देता था

पुलिस ने फोन कॉल की जांच की तो मृतक और ममेरे भाई के बीच घंटों बातचीत होती थी। मौजूदा महीने में ही 50 से 60 घंटे बातचीत का पता चला। पिछले सात साल से ममेरा भाई परेशान था। बात नहीं करने पर मृतक धमकी देता था।

पत्नी से अधिक प्यार मनीराम से,पत्नी की मारपीट

मृतक संतोष चाहता था कि ममेरे भाई मनीराम की शादी न हो। यदि शादी भी कर ली तो उसी की पत्नी के सामने उसके साथ संबंध बनाने की धमकी देता था। संतोष पाल की एक साल पहले ही शादी हुई थी। पुलिस छानबीन में पता चला है कि ममेरे भाई मनीराम पाल ने शादी के बाद संतोष से बातचीत बंद कर दी थी। संतोष ने इस बात की भड़ास अपनी पत्नी पर निकाल दी। विवाद के दौरान पत्नी के पेट में मृतक संतोष ने लात मार दी, जिससे तीन माह का गर्भ गिर गया। पत्नी को भी पता चल गया था।

ऐसे हुई थी हत्या

जानकारी के मुताबिक मृतक शादीशुदा था इसके बावजूद वह आरोपी पर सम लैंगिक संबंध बनाने का दबाव बनाता था। इसी कड़ी में 23 फरवरी की रात मृतक ने आरोपी को फोन कर नहर के पास आंगनबाड़ी के पीछे बुला लिया था। इसके बाद उसके साथ समलैंगिक संबंध बनाए थे। इसी से तंग आकर मृतक की कनपटी पर कट्टा रखकर उसे गोली मार दी थी।

गुजरात के बांपी से कट्टा खरीद कर लाया था आरोपी

आरोपी मनीराम ने अपने बयानों में बताया कि वह अपने भाई के बार-बार समलैंगिक संबंध बनाने के दबाव से परेशान हो चुका था। जबकि उसकी शादी भी हो चुकी थी। उसने अपने भाई की इस जिद से छुटकारा पाने का मन बना लिया था।

इसके लिए वह दो माह के लिए जब गुजरात में नौकरी के लिए गया था। तभी उसने गुजरात के वांपी से एक कट्टा भाई की हत्या करने के लिए खरीदकर रख लिया था। इस क्रम में 23 की रात जब एक बार संबंध बनाने के बाद उसके भाई ने उसे दोबारा मजबूर किया था।

इसी दौरान दूसरी बार संबंध बनाने के दौरान उसने अपने भाई की कनपटी पर कट्टे से फायर कर दिया था। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर उसके पास से देशी कट्टा बरामद कर लिया है। इस केस की जांच में यह पता चला है कि आरोपी के प्राइवेट पार्ट पर दांतो के निशान तक है। कुल मिलाकर मनीराम संतोष को मारने की प्लानिंग बहुत पहले से ही कर चुका था। इस कारण वह गुजरात से कट्टा भी खरीद कर लिया था।
G-W2F7VGPV5M