SHIVPURI NEWS - बदली जा रही है मडीखेडा की लाइन,बार-बार लीकेज से मिलेगी मुक्ति

Bhopal Samachar

शिवपुरी। शिवपुरी के प्यासे कंठो का एकमात्र सहारा मड़ीखेड़ा सिंध जलावर्धन योजना की लाइन बार बार टूटने के कारण बार बार सिंध की सप्लाई प्रभावित होती थी इस कारण शहर में जल संकट उत्पन्न होता था। प्लास्टिक की लाइन पानी के प्रेशर को कारण टूट जाती थी,इस कारण अब लाइन को बदलकर डीआई लाइन डाली जा रही है। 1 फरवरी से इसका काम भी शुरू हो जाऐगा। लाइन बदलने के कारण उम्मीद है कि सिंध अब निर्वाध रूप से जारी रहेगी।

मड़ीखेड़ा से लेकर शिवपुरी तक 23 किलोमीटर लंबी पाइप लाइन बदलने का रास्ता साफ हो गया है। एक फरवरी से इसकी प्रक्रिया शुरू होगी और ठेकेदार द्वारा जीआरपी ( ग्लास रीइन्फोर्ड प्लास्टिक )की जगह डीआई लाइन (डक्टाइल आयरन)  यहां बिछाई जाएगी। पहले 1 से 5 फरवरी तक लाइन बिछाई जाएगी। इन 5 दिनों में ठेकेदार आधा किलोमीटर लाइन बिछाएगा और इन पांच दिनों में शहर में पानी सप्लाई बंद रहेगी, जिससे उपभोक्ताओं को परेशानी होगी।

हालांकि उसके बाद आने वाले 7 दिनों में लगातार पानी उपलब्ध रहेगा जो शहरवासियों के लिए राहत भरा कदम होगा। दरअसल नगर पालिका द्वारा 23 किमी के दायरे में मड़ीखेड़ा से शिवपुरी तक लाइन बिछाने का काम शेष है। क्योंकि पानी सप्लाई के लिए जो जीआरपी लाइन बिछाई गई है वह बार.बार क्रेक हो रही है। जीआरपी लाइन फाइवर की रहती है और इसमें पानी का प्रेशर बढ़ जाने की वजह से यह बार.बार फटती है। इस वजह से पूरी लाइन को चेंज किया जा रहा है। 55 करोड़ रुपए की लागत से डीआई पाइप अर्थात डक्टाइल आयरन के पाइप बिछाए जा रहे हैं। ताकि इन पाइप के माध्यम से पानी सप्लाई में बाधा न हो।

दरअसल डक्टाइल आयरन पाइप में सीमेंट कंक्रीट की अंदर कोटिंग होती है और बाहर विट्टमिन कोटिंग रहती है। इस लोहे के पाइप में पानी का प्रेशर भी तेजी से मिलता है। यही वजह है कि लाइन फटने की गुंजाइश नहीं रहती। इस लाइन को डालने की शुरुआत अब 1 फरवरी से नगर पालिका करने जा रही है। इस काम को अंजाम देने वाली वानको कंस्ट्रक्शन कंपनी सोमवार को मड़ीखेड़ा और भूराखो पहुंच जनप्रतिनिधियों के साथ काम की मॉनिटरिंग करेगी। इसके बाद एक फरवरी से लाइन बदलने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इस पूरे निर्माण कार्य के बाद शिवपुरी में पानी की समस्या खत्म हो जाएगी।


1 से 29 फरवरी तक चलेगा अभियान
अधिकारियों ने कार्ययोजना बताते हुए कहा कि 1 से 5 फरवरी तक लगातार पानी की सप्लाई बंद करनी पड़ेगी। इस दौरान 500 से 600 मीटर लाइन 5 दिन में टीम बिछा सकेगी। इसके बाद 6 से 12 फरवरी तक पानी की सप्लाई शहर में की जाएगी। इन 7 दिनों में शहर के 39 वार्डों में लोगों को परेशानी न हो इस आधार पर पानी सप्लाई होगा।

13.17 फरवरी तक फिर पानी की सप्लाई 5 दिन रुकेगी और इस दौरान ठेकेदार द्वारा 500 मीटर दायरे में फिर लाइन बिछाई जाएगी। यही नहीं 18 से 24 फरवरी तक फिर पानी सप्लाई शहर में चालू की जाएगी और लाइन बदलने का काम बंद रहेगा। जबकि 25.29 फरवरी तक फिर से डीआई लाइन का काम ठेकेदार करेगा जिससे सप्लाई बंद रहेगी।




यहां बिना सप्लाई बंद किए लाइन बदलेगी
नगर पालिका के अधिकारियों की कंपनी के साथ रविवार को एक आवश्यक बैठक शाम 5 बजे हुई। जिसमें नगर पालिका अध्यक्ष गायत्री शर्मा को कंपनी ठेकेदार और अधिकारियों ने बताया कि लाइन बदलने के लिए एक फरवरी से शुरुआत होगी। 23 किलोमीटर के दायरे में लाइन बदलने का काम होना है।

इसमें से डेढ़ किलोमीटर का दायरा पहले ही लाइन से बदला जा चुका है। शेष हिस्से में लाइन बदलने के लिए प्रक्रिया होगी। जिसके तहत कुल 4रू30 किमी का हिस्सा ऐसा है जो फॉरेस्ट लैंड में शामिल नहीं है। यहां लाइन बदलते समय पानी सप्लाई को नहीं रोका जाएगा। इसके बाद का शेष हिस्सा फॉरेस्ट लैंड में है। इस वजह से पुरानी अनुमति के आधार पर यहां लाइन बदलने की तैयारी विभाग कर रहा है।


मड़ीखेड़ा से लेकर सतनवाड़ा तकि, फिर सतनवाड़ा से लेकर कठमई और फिर शिवपुरी इन तीन चरणों में डीआई पाइपलाइन बिछाने की प्रक्रिया होगी। जिसके लिए कंपनी के पास 2 साल का समय निर्धारित है। लेकिन पहले चरण की टेस्टिंग के बाद काम की रफ्तार बढ़ाने और दोगुना अमला लगाने की तैयारी है, जिसकी वजह से एक साल में यह काम पूरा होने की संभावना है।


लाइन बदलने से पानी की समस्या खत्म होगी
मप्र की पूर्व खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया की प्रेरणा से डीआई लाइन बदलने का काम स्वीकृत हुआ है। जो अब एक फरवरी से शुरू होने वाला है। लाइन बदल जाने से आगामी 100 साल के लिए देशवासियों को पानी की समस्या से निजात मिलेगी। .
गायत्री शर्माए अध्यक्ष, नगर पालिका परिषद, शिवपुरी




G-W2F7VGPV5M