SHIVPURI NEWS - कूनो नेशनल पार्क में अब चीता शौर्य की मौत,अब तक 10 चीते तोड चुके है दम

Bhopal Samachar

भोपाल। खबर चीता प्रोजेक्ट को खबर देने वाली कूनो नेशनल पार्क से मिल रही है कि कूना नेशनल पार्क में मंगवार को एक ओर चीते की मौत हो गई है। नामीबिया से लाया गया चीता शौर्य ने दोपहर  3.17 बजे दम तोड़ दिया। चीतों की मॉनिटरिंग कर रही टीम ने सुबह 11 बजे जब उसे देखा तो वह अचेत हालत में दिखा था। टीम ने उसे ट्रेंकुलाइज कर सीपीआर (कार्डियो पल्मोनरी रिससिटैशन) दिया। कुछ देर तो उसे होश आया लेकिन कमजोरी बहुत थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद उसकी मौत के कारणों का खुलासा होगा।

कूनो में अब तक शावक और चीते मिलाकर यह 10वीं मौत है। इनमें 7 चीते और 3 शावक हैं। प्रोजेक्ट चीता के तहत सितंबर 2022 में आठ चीतों को नामीबिया से लाया गया था। इसके बाद फरवरी 2023 में 12 और चीतों को दक्षिण अफ्रीका से लाया गया था।

नामीबिया से लाया गया चीता शौर्य अपने सगे भाई गौरव के साथ आया था। दोनों हमेशा एकसाथ रहते थे, साथ शिकार करते थे। कुछ समय पहने दोनों की अग्नि और वायु चीते से भिड़ंत हुई थी। वे दोनों भी सगे भाई थे। इसमें अग्नि चीता गंभीर रूप से घायल हो गया था। इसके बार चीतों को बाड़े में बंद कर दिया था।


कूनो में कब, किस चीते की मौत हुई

26 मार्च 2023 को साशा की मौत हुई। साशा को नामीबिया से लाया था। किडनी इंफेक्शन के कारण मौत हुई।

23 अप्रैल 2023 को साउथ अफ्रीका से लाए गए चीते उदय की दिल के दौरे से मौत हुई।

9 मई 2023 को दक्षिण अफ्रीका से आई दक्षा की मेटिंग के दौरान मौत हुई।  

23 मई 2023 को मादा चीते ज्वाला के एक शावक की मौत हो गई। गर्मी, डिहाइड्रेशन को कारण बताया।
 
25 मई 2023 को ज्वाला के दो और शावकों की मौत हुई। ज्यादा तापमान और लू को मौत का कारण बताया।
 
11 जुलाई 2023 को चीता तेजस की मौत हुई। चीतों के आपसी संघर्ष को मौत का कारण बताया।

14 जुलाई 2023 को चीता सूरज की मौत हुई। चीतों के आपसी संघर्ष में ही सूरज की जान गई है।

2 अगस्त 2023 को मादा चीता धात्री की मौत हुई। पोस्टमार्टम में इंफेक्शन से मौत की वजह सामने आई थी। 
G-W2F7VGPV5M