SHIVPURI NEWS - संत फार्म में घुसे 2 नकाबपोश, 1 लाख नगदी सहित गहने लेकर फरार

Bhopal Samachar

शिवपुरी । कोलारस थाना अंतर्गत जेल कालोनी के पास बने संत फार्म पर बीती रात अज्ञात चोरों ने एक घर में घुसकर वहां एक महिला से पहले कमरे की चाबी ली और इसके बाद उन्होंने दूसरे में रखे बक्से व अलमारी से एक लाख रुपये नगद सहित सोने-चांदी के जेवर लूट ले गए। पुलिस ने मामले में चोरी की एफआईआर दर्ज की है। खास बात यह है कि महिला और पुलिस की कहानी में जमीन आसमान का अंतर है।

पीड़िता सीमा पत्नी कल्ला कुशवाह उम्र 30 साल निवासी संत फार्म कोलारस के अनुसार 28 नवंबर की रात वह घर में अपने दो बच्चों और एक भाई के बच्चे के साथ सो रही थी। इसी दौरान रात करीब दो बजे वह बाथरूम करने के लिए उठी व बाथरूम करने के उपरांत जैसे वह कमरे में जाने लगी तो मकान की जीने से दो नकाबपोश बदमाश कूदे और उन्होंने उसका हाथ पकड़ लिया।


बकौल सीमा वह उसे कमरे के अंदर ले गए और वहां से खिड़की में रखी कमरे की व अलमारी की चाबी उठा लीं। इसके बाद दोनों बदमाशों ने चाबी से दूसरे कमरे का ताला खोल लिया। सीमा के अनुसार बदमाशों ने उसे अपने साथ कमरे के अंदर बंद कर लिया व बक्से में रखे एक लाश रुपये नकद तथा अलमारी का ताला खोलकर लाकर तोड़ कर वहां से चांदी की दो करौनी, दो जोडी चांदी की पायल, दो चांदी के गुच्छे, एक जोड़ी झुमकी, एक जोडी टॉप्स सोने के, एक सोने का मंगलसूत्र, एक दुलनिया, एक सोने की मोर, एक सोने के अंगूठी लेकर चले गए।

महिला की मानें तो वह इतनी डर गई थी कि उसके मुंह से कोई आवाज तक नहीं निकली। बदमाशों के भागने के बाद उसने तत्काल अपने पति और सास- ससुर को फोन लगा कर घटना की जानकारी दी। इसके बाद मामले की शिकायत पुलिस को दर्ज कराई गई। पुलिस ने मामले में सिर्फ चोरी का प्रकरण कायम किया है।

सीमा की मानें तो शिवपुरी निवासी उसकी ननद के यहां बच्चा हुआ है, इसलिए उसे पक्ष लेकर वहां जाना था। इसलिए 50 हजार रुपये रखे थे। इसके अलावा उनके चाचा ससुर ने पिछले साल उनसे गाड़ी खरीदने दो लाख रुपये उधार लिए थे, उसमें से शेष बचे 50 हजार रुपये उन्होंने कुछ समय पहले वापस किए थे। वह पैसे भी बक्से में रखे हुए थे बदमाशों ने बक्से की तलाशी के बैरान वह एक लाख रुपये उठा लिए। इसके बाद अलमारी में रखे पूरे जेवर उठा लिए और छत के रास्ते ही भाग गए।

महिला की कहानी संदिग्ध
प्रथम दृष्टया तो हमें महिला की कहानी और घटना संदिग्ध लग रही है। यह मामला लूट का नहीं चोरी का है, इसलिए मामले में चोरी की एफआईआर दर्ज की है। मामले की विवेचना के दौरान प्रकरण में जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। -
जितेंद्र मावई, कोलारस थाना प्रभारी
G-W2F7VGPV5M