SHIVPURI NEWS - चाइना हत्याकांड: 3 थाना प्रभारी सहित 11 पुलिसकर्मियो की टीम फैल, 10 हजार का इनाम घोषित

Bhopal Samachar
शिवपुरी। शिवपुरी जिले के बैराड़ थाना अंतर्गत कस्बे में बीते 10 अक्टूबर को दिनदहाड़े चाईना शर्मा की गला दबाकर हत्या कर दी थी 60 हजार नगदी और 15 तोला सोना ले गए। आज इस इस घटना को 9 दिन हो चुके है लेकिन पुलिस के हाथ खाली है। इस मामले को ट्रेस करने के लिए एक टीम बनाई गई है। इस टीम में 3 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है,वही इस मामले में पुलिस ने अज्ञात हत्यारों पर 10 हजार का इनाम घोषित कर दिया है।


जैसा कि विदित है कि बैराड़ में निवास करने वाले अजय शर्मा की पत्नी चायना शर्मा को मंगलवार की 10 अक्टूबर दोपहर 12:30 से एक बजे के बीच मौत के घाट उतारकर लूट की वारदात को अंजाम दिया गया था। पुलिस को आशंका है कि घटना में एक से अधिक बदमाश शामिल हैं। बदमाशों को इस बात की भी जानकारी थी कि यहां पर उन्हें बड़ी रकम मिल सकती है।

उन्होंने वारदात भी दिनदहाड़े अंजाम दी, क्योंकि वे वाकिफ थे कि इस समय घर में चाइना अकेली रहती थी, इससे पुलिस को राखी का संदेह हो रहा है। बुधवार को एसपी रघुवंश सिंह भी बैराड़ पहुंचे और घटनास्थल का निरीक्षण भी किया था और आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए थे।

3 थाना प्रभारी सहित 11 पुलिसकर्मियों की टीम

चाइना शर्मा की हत्या के बाद बैराड में पुलिस के खिलाफ रोष उत्पन्न हो गया,बैराड़ के निवासियों का कहना था कि यहां खुले आम स्मैक बेची जाती है। पुलिस कार्रवाई नही करती है। वही ब्राहम्मण समाज ने भी इस मामले का जल्द ही खुलासा करने के लिए दबाव बनाया था। इस मामले को ट्रेस करने के लिए बैराड थाना प्रभारी नवीन यादव के नेतृत्व में 11 पुलिसकर्मियों की टीम बनाई गईं

इस टीम में एसआई शिवनाथ सिंह सिकरवार थाना प्रभारी गोवर्धन,एसआई रघुवीर सिंह धाकड़ थाना प्रभारी गोपालपुर,एसआई धर्मेन्द्र शिवहरे थाना बैराड,एसआई कोमल परिहार चौकी प्रभारी भटनावार, एएसआई तेज सिंह गौड़ थाना बैराड,प्रधान आरक्षक जगेश सिंह सिकरवार ,आरक्षक रंजीत रावत, आरक्षक अवधेश उपाध्याय,आरक्षक अरूण, आरक्षक सुमित सेंगर और आरक्षक वर्षा जाटव को रखा गया।

उठाए गए 2 दर्जन से अधिक संदिग्ध,नही मिले फिंगर प्रिंट

इस हत्याकांड को लेकर 2 दर्जन से अधिक लोगो को हिरासत में लिया गया था। पूछताछ की गई लेकिन पुलिस को सफलता नही मिली। बताया जा रहा है मौके से 2 फिंगर प्रिंट मिले थे इन सब संदिग्धों के फिंगर प्रिंट नही मिले इस कारण इन सबसे वसूली कर छोड दिया गया वही कुछ लोगो पर 151 दर्ज कर जेल भेजने की कार्रवाई की गई।

बैराड की पुलिस की पुलिसिंग फेल

इस मामले में बैराड की पुलिसिंग फैल हो चुकी है। कस्बे में लगे कैमरे ने कोई सुराग नही उगला और ना ही पुलिस के सूत्र इस हत्या काण्ड तक पहुंच रहे है। पुलिस ने आक्रोश से बचने के लिए प्रधान आरक्षक जागेश सिकरवार और राम अवतार रावत आरक्षक अवधेश उपाध्याय का लाइन हाजिर कर दिया है इन पर आरोप था कि इन मिली भगत से बैराड में स्मैक का कारोबार चरम पर है। वही पुलिस अधीक्षक शिवपुरी ने अज्ञात हत्यारों पर 10 हजार का इनाम घोषित कर दिया है।
G-W2F7VGPV5M