SHIVPURI NEWS- परिवार परामर्श केंद्र में पहुंचा बिजली बिल का झगड़ा, ससुर ने सीमा को घर से निकला

Bhopal Samachar
शिवपुरी। शिवपुरी मुख्यालय पर आज पुलिस कंट्रोल रूम पर परिवार परामर्श केंद्र के शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में सुनवाई के दौरान 15 में से 11 में प्रकरणों में राजीनामा हुआ जबकि 4 प्रकरणों में समझौता न हो पाने के चलते मामलों को महिला प्रकोष्ठ की तरफ से वापस भेजे गए।

बेटा जेल गया, ससुर ने बहू निकाला घर से, अब हुआ राजी

पिछोर तहसील की रहने वाली सीमा की शादी 5 साल पहले खनियाधाना तहसील क्षेत्र के एक गांव में हुई थी। लेकिन किसी मामले में उसके पति को जेल जाना पड़ा था। पति के जेल जाने के बाद ससुर ने सीमा को घर से बेदखल कर दिया। सीमा तभी अपने मायके रह रही थी। इस मामले की आज सुनवाई शिविर में हुई। जहां अब सीमा का ससुर अपनी बहू को अपने घर में रखने न सिर्फ राजी हुआ बल्कि उसे अलग से एक कमरा देने की बात कही।

शराब बनी पति-पत्नी की दूरी का कारण

एक अन्य प्रकरण में पति-पत्नी के बीच दूरी की जड़ शराब बनी हुई थी। शराब को लेकर पति-पत्नी के बीच झगडे़ होते रहते थे। इन झगड़ों में दोनों की दो बेटियों का भी पिसना हो रहा था। इसी के चलते महिला अपनी दो बेटियों के साथ तीन माह से अपने मायके रह रही थी। शिविर में तलाक की राह पर आगे बढ़ रहे दंपति को रोक दिया गया। जहां शिविर में पिता को दो मासूम बेटियों के भविष्य के बारे में विचार करने की बात कही। इसी बात से शराब के शौकीन पति ने कभी भी शराब न पीने की सौगन्ध खाई और अपनी दो बेटियों और पत्नी के साथ ख़ुशी-ख़ुशी घर रवाना हुआ।

सास-बहू का झगड़ा, पति परेशान

शोभा की शादी शिवपुरी के रहने वाले कपड़ा व्यवसाई देवेंद्र के साथ हुई थी लेकिन संतान न होने के कारण शोभा को सास की उलहाना झेलनी पड़ती थीं इसके बाद दंपति ने एक बेटी को भी गोद ले लिया था। इसके बाद भी सास-बहू के बीच कहासुनी का दौर जारी रहा। शोभा का पति भी अपनी मां के आगे अपनी पत्नी को ज्यादा तवज्जो नहीं दे पाता था इसी के चलते शोभा 2 माह से मायके में रह रही थी। परामर्शदाताओं की समझाइश के बाद दोनों पति-पत्नी के गिले शिकवे और इगो प्रॉब्लम दूर हुई। समझौते के बाद शोभा अपने पति के साथ हंसी खुशी अपने ससुराल चली गई।

बिजली का बिल बना हुआ था विवाद की जड़

शिविर में शिवपुरी के रहने वाले मोहसिन खान का बहुत ही रोचक प्रकरण सामने आया जिसमें पति-पत्नी के बीच विवाद का कारण ससुर के मकान बिजली का बिल था जिसमें सभी शामिल आती रह रहे थे जिसके कारण घर में कलह के हालात थे। इस प्रकरण मे जहां काउंसलरों ने सास ससुर की काउंसलिंग की वहीं बेटा बहू की भी काउंसलिंग करके उन्हें यह समझाने में सफल रहे कि आप अपने हिस्से का बिजली का बिल जमा करें और दोनों पति-पत्नी इसके लिए मान गये। बहू इस बात पर लड़ रही थी की जब अन्य भाई बिजली का बिल दे देंगे तब ही मैं अपना हिस्सा दूंगी। इस मामले मे बुजुर्ग सास ससुर और उनके लड़के बहू के बीच में समझौता हो गया।

आज के शिविर में पुलिस अधीक्षक, रघुवंश सिंह भदौरिया, एडिशनल एसपी मुले साहब, जिला संयोजक आलोक एम इन्दौरिया, म. थाना प्रभारी शिखा तिवारी कंट्रोल रूम प्रभारी बृजेंद्र राजपूत, भरत अग्रवाल, डॉ. इकबाल खान, राजेंद्र राठौर, संतोष शिवहरे, राकेश शर्मा, विजय खन्ना, महिपाल अरोरा, सुरेंद्र साहू, प्रीति जैन, श्वेता आकांक्षा गौड़, मृदुल राठी, नम्रता गर्ग, किरण ठाकुर, गुंजन खमरिया, आनंदित गांधी सहित महिला सेल का स्टाफ मौजूद रहा था।
G-W2F7VGPV5M