70 वर्षीय बुजुर्ग अपने जिंदा होने का सबूत देने पहुंचा कलेक्ट्रेट, दबंगों ने मुझे मरा हुआ बताकर हड़प ली 20 बीघा जमीन

शिवपुरी।
शिवपुरी जिले में शुक्रवार को एक बुजुर्ग अपने जिंदा होने को सबूत देने कलेक्ट्रेट पहुंचा। वह पिछले 5 सालों से अपनी 20 बीघा जमीन के लिए लड़ाई लड़ रहा है। दबंगों ने उसकी जमीन को हथिया लिया है।

जानकारी के अनुसार रघुवीर नामदेव बदरवास 70 साल डुमेला पंचायत का रहने वाला है। उसका आरोप है कि उसे कागजों में मृत बताकर दबंगों ने तहसील के बाबुओं से मिलीभगत करके उसकी 20 बीघा जमीन पर कब्जा कर लिया है। वह 2017 से अपने जिंदा होने के सबूत लेकर दफ्तरों के चक्कर लगा रहा है लेकिन अभी तक उसकी सुनवाई नहीं हुई है।

रघुवीर पुत्र घासीराम नामदेव निवासी ग्राम डुमेला हाल निवासी अकाझिरी ने कलेक्ट्रेट में शिकायत दर्ज कराई है कि उसके स्वामित्व की भूमि जिसका सर्वें नम्बर 17, 18, 22 है। जिसका कुल रकबा 20 बीघा के लगभग डुमेला गांव में है।

सुरवाया के रहने वाले शेर सिंह उर्फ शेरा पुत्र रूप सिंह सिक्ख ने कागजों में हेर.फेर कर उसे मृत बताकर उसकी जमीन पर कब्जा कर लिया है। कई बार जब उसने शेरा सिक्ख से कब्जे को हटाने के लिए कहा तो वह उसे जान से मारने की धमकी देता है। जिससे उसका पूरा परिवार डरा हुआ है।

रन्नौद तहसीलदार अतर सिंह गुर्जर का कहना है कि मेरे द्वारा जांच कर प्रतिवेदन बनाकर एसडीएम को भेजा है। एसडीएम बृज बिहारी श्रीवास्तव का कहना है कि मामले की जांच चल रही है। पट्टा मालिक द्वारा पट्टों की शर्तों का उल्लंघन किया गया है। जांच पूरी होने के बाद पट्टा निरस्त कर जमीन को शासकीय घोषित किया जा सकता है।